प्रधान सचिव नृपेंद्र मिश्रा के जगह बिहार के पीके सिन्हा होंगे प्रधानमंत्री कार्यालय के नए OSD

मोदी सरकार में बिहारी अधिकारियों का दबदबा बना हुआ है| एक बार फिर प्रधानमंत्री मोदी ने एक बिहारी अधिकारी को बड़ी जिम्मेदारी दी है| इस बार सेवानिवृत आइएएस अधिकारी पीके सिन्हा को प्रधानमंत्री कार्यालय में OSD (आफिसर ऑन स्पेशल ड्यूटी) बनाया गया है| वो प्रधान सचिव नृपेंद्र मिश्रा की जगह लेंगे|

पीएमओ में श्री सिन्हा की नियुक्ति प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सलाह पर की गयी है| श्री सिन्हा इसके पहले यूपी में कई महत्वपूर्ण पदों पर कार्य कर चुके हैं| कैबिनेट सेक्रेटरी बनने के पहले वे ऊर्जा और जहाजरानी मंत्रालय के  सेक्रेटरी भी रह चुके हैं| श्री सिन्हा की शिक्षा-दीक्षा दिल्ली में ही हुई है| उनके पिताभी यूपीएससी में अधिकारी रहे थे|

बता दें कि 1977 बैच के आईएएस अधिकारी पीके सिन्हा देश के सबसे वरिष्ठ नौकरशाहों में से एक हैं| फिलहाल वो भारत सरकार के कैबिनेट सचिव की जिम्मेदारी निभा रहे हैं| बिहार के औरंगाबाद जिले के मूल निवासी और यूपी कैडर के आइएस अधिकारी रहे पीके सिन्हा का जन्म 18 जुलाई, 1955 को हुआ| उनका पूरा नाम प्रदीप कुमार सिन्हा है, लेकिन आम तौर पर लोग उन्हें पीके नाम से जानते हैं| 64 साल के मृदु भाषी सिन्हा जहां भी रहे अपने कार्यों की छाप छोड़ी है|

1977 बैच के आइएएस अधिकारी सिन्हा पहले जहाजरानी मंत्रालय में सचिव भी रह चुके हैं| उत्तर प्रदेश काडर के आईएएस अधिकारी के तौर पर उन्होंने केंद्र और उत्तर प्रदेश सरकार के कई महत्वपूर्ण पदों पर भी कार्य किया|

1990 के दशक के अंत में वो खेल मंत्रालय में पहले निदेशक और युवा मामलों के संयुक्त सचिव की जिम्मेदारी निभा चुके हैं| 1992-94 के दौरान वो मेरठ विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष और 2003-04 में ग्रेटर नोएडा विकास प्राधिकरण के अतिरिक्त मुख्य कार्यकारी अधिकारी थे|

2004-12 तक यूपीए सरकार के कार्यकाल में वो ज्यादातर समय पेट्रोलियम मंत्रालय में थे| पेट्रोलियम मंत्रालय में रहते हुए उन्हें संयुक्त सचिव, अतिरिक्त सचिव और फिर विशेष सचिव भी बनाया गया था|

Search Article

Your Emotions

    %d bloggers like this: