India Post Payment Bank: बैंक जाने की जरुरत नहीं, जानिए डाकिया से कैश मंगवाने का तरीका

किसी भी बैंक के खाते से पैसे की निकासी की जा सकती है

लॉकडाउन के कारण आप घर में फस गएँ हैं, गाँव में एटीएम की सुविधा नहीं है या आपका बैंक आपके घर के आस-पास नहीं है तो आप अपने नजदीकी पोस्ट ऑफिस से भी 10 हज़ार रूपये तक की निकासी कर सकते हैं| यही नहीं, आपको पोस्ट ऑफिस जाने की भी जरुरत नहीं है, आपको आपके घर पर यह सुविधा मिलेगी| इसमें सबसे अच्छी बात है कि आप किसी भी बैंक के खाता से पैसे की निकासी कर सकते हैं| इसके लिए बस खाताधारक का बैंक अकाउंट आधार से लिंक होना चाहिए|

इससे आधार इनेबल्ड पेमेंट सिस्टम के माध्यम से ही लोगों को घर तक पैसा पहुंचाया जाता है| आधार इनेबल्ड पेमेंट सिस्टम (AePS), नेशनल पेमेंट्स कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया (NPCI) द्वारा विकसित एक सिस्टम है जो लोगों को आधार नंबर और उनके फिंगरप्रिंट/आईरिस स्कैन की मदद से वैरिफिकेशन करके माइक्रो-एटीएम द्वारा वित्तीय ट्रांजैक्शन करने की अनुमति देता है|


यह भी पढ़ें: लॉकडाउन के दौर के मध्य में बढ़ती शैक्षिक डिजिटल असमानता, एक नजर बिहार की ओर


कैसे निकला जा सकता है पैसा?

पैसे निकालने के लिए आपको अपने नजदीकी पोस्ट ऑफिस में जाकर इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक से पैसा निकाल सकते हैं| अगर पोस्ट ऑफिस आप नहीं जाना चाहते तो आप अपने घर भी पैसा मंगवा सकते हैं| इसके लिए आपको अपने नजदीकी पोस्ट ऑफिस से संपर्क साधना होगा| आपको जितना अमाउंट अपने खाता से निकलना है उसकी जानकारी उन्हें देना होगा|  कुछ समय में आपके दिए पता पर डाकिया आधार इनेबल्ड पेमेंट सिस्टम (AePS), नेशनल पेमेंट्स कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया (NPCI) द्वारा विकसित एक सिस्टम है जो लोगों को आधार नंबर और उनके फिंगरप्रिंट/आईरिस स्कैन की मदद से वैरिफिकेशन करके माइक्रो-एटीएम द्वारा वित्तीय ट्रांजैक्शन करने की अनुमति देता है| इसके बाद तय प्रक्रिया को पूरा करते हुए आपको पैसे दे दी जाएगी| मगर यह याद रखिये कि यह सुविधा आपको तभी मिलेगी जब आपका अकाउंट आधार से लिंक्ड है|

ग्रामीण क्षेत्र में लोगों को मिल रही है मदद

सरकार के इस पहल के बाद इंडियन पोस्ट फिर से अपने नए रूप में सक्रिय हो गया है| इंडियन पोस्ट बैंक से लाखों लोगों को मदद मिल रही है| खासकर ग्रामीण क्षेत्र में जहाँ बैंक का नेटवर्क और एटीएम सुविधा उतना उपलब्ध नहीं है, वहां इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक काफी कारगर साबित हो रही है| लॉकडाउन के दौरान केंद्र से लेकर राज्य सरकार जनता के खाता में कई योजनाओं का पैसा भेज रही है| इन पैसों को निकालने के लिए अब लोगों को बैंक के लम्बे लाइन में लगने की जरुरत नहीं पड़ रही| हालांकि अभी इस बैंक को लेकर और भी जागरूकता फ़ैलाने की जरुरत है|


यह भी पढ़ें: नीतीश सरकार की बड़ी उपलब्धि, मात्र 8 महीने में बना दिया 100 बेड का हॉस्पिटल


लॉकडाउन के’ 24 मार्च से 23 अप्रैल के दौरान, पूरे भारत में 1.36 लाख इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक के नेटवर्क के माध्यम से 21 लाख से अधिक ऐसे लेन-देन किए जा चुके हैं। इनमें से ज्यादातर ग्रामीण और ऐसे क्षेत्र शामिल हैं जहां पर बैंकिंग सेवाएं बेहद कम हैं।

 

Search Article

Your Emotions

    %d bloggers like this: