मुंबई में प्रतिष्ठित ‘पाग पुरुष’ के उपाधि से सम्मानित हुए बिहार के मधुबनी जिले के डॉ. बीरबल झा

मधुबनी: मैथिली संस्था मिथिला दर्पण द्वारा मुंबई के डी.जी. खेतान इंटरनेशनल ऑडिटोरियम में शनिवार को आयोजित एक भव्य कार्यक्रम में मिथिलालोक फाउंडेशन के चेयरमैन डॉ. बीरबल झा को ‘पाग पुरुष’ के उपाधि से सम्मानित किया गया। संस्था के अनुसार डॉ. झा मिथिला की संस्कृति को देश और विदेशों में पहचान दिलाने के लिए संघर्षरत रहे हैं, इसलिए उन्हें यह सम्मान दिया गया है। पिछले कुछ वर्षो से ‘पाग बचाउ अभियान’ चला रहे डॉ. झा विगत दिनों मिथिला के लाल व रेयान स्कूल (गुरुग्राम) के छात्र प्रद्युम्न ठाकुर हत्याकांड में उसके अभिभावक को कानूनी मदद मुहैया कराने के लिए भी चर्चा में रहे हैं। उनके प्रयास से ही विगत दिनों केंद्र सरकार ने ‘मिथिला पाग’ पर डाक टिकट जारी किया है।

मिथिला स्थित मधुबनी जिले के सिजौल गांव में स्व.दयानंद झा एवं जयपुरा देवी के घर 22 जनवरी, 1972 को जन्मे डॉ. बीरबल झा बहुमुखी प्रतिभा के धनी हैं। देश के प्रसिद्ध अंग्रेजी शिक्षण संस्थान ब्रिटिश लिंग्वा के संस्थापक एवं दर्जनों पुस्तकों के लेखक डॉ. बीरबल झा न केवल मिथिला के सामाजिक, सांस्कृतिक और आर्थिक विकास के प्रति समर्पित हैं, बल्कि उन्होंने देशभर में युवाओं की रोजगारपरकता बढ़ाने में अप्रतिम योगदान दिया है।

विज्ञप्ति के अनुसार, कम्युनिकेशन स्किल के क्षेत्र में लगातार 24 वर्षो से अपने संगठन ब्रिटिश लिंग्वा के देशभर में फैले विभिन्न केंद्रों के माध्यम से युवाओं को प्रशिक्षित करने वाले डॉ. झा अब तक लाखों युवाओं को कुशल बना चुके हैं। बिहार में ही 30 हजार से अधिक महादलित छात्र-छात्राओं को स्पोकेन इंग्लिश की ट्रेनिंग देकर उन्होंने एक मिसाल कायम किया है। वर्ष 2010 में देश की राजधानी में आयोजित राष्ट्रमंडल खेल के दौरान होमगार्ड के जवानों को प्रशिक्षित करने वाले डॉ. झा मिथिला के सर्वागीण विकास के लिए समर्पित हैं।

रिपोर्ट: विक्रम भगत नागवंशी

Search Article

Your Emotions

    %d bloggers like this: