बिहार के लाल चीन के छात्रों को पढ़ायेंगे राजनीति का पाठ

बिहार के लाल शुरू से ही दुनियाभर के लोगों के बिच ज्ञान का संचार करते आ रहे हैं इसीलिए डॉ राजीव रंजन की ये उपलब्धि राज्यवासियों के लिए ख़ुशी की खबर जरूर है लेकिन लोगों के लिए ये हैरान करने वाली बात नही है। अपने प्रतिभा के दम पर दुनियाभर के लोगों को अपना दीवाना बनाने वाले लोगों में से एक हैं सीतामढ़ी के राजीव

सीतामढ़ी के डॉ राजीव रंजन चीन के छात्र-छात्राओं को अब राजनीति-विज्ञान के पाठ पढ़ायेंगे।
डॉ राजीव रंजन का चीन के शंघाई विश्वविद्यालय के कॉलेज ऑफ़ लीवरल आर्ट्स में राजनीतिक विज्ञान एवं लोक प्रशासन विभाग में असिस्टेंट प्रोफेसर के रूप में हुआ है।
डॉ रंजन की नियुक्ति चीन में होने  पर लोगों में हर्ष है। बताते चले की डॉ रंजन मूल रूप से परिहार प्रखंड के पीपरा विशुनपुर के रहने वाले हैं। उनके पिता रामानंद मंडल डुमरा प्रखंड के मध्य विद्यालय शिवहर में प्रभारी प्रधानाध्यापक के पद पर तैनात हैं। डॉ राजीव रंजन ने जेएनयू दिल्ली से राजनीति एवं अंतर-राष्ट्रीय सम्बंध में मास्टर की डिग्री प्राप्त की थी। इसके बाद उन्होंने चाइना स्टडीज के एमफिल व एनवायर्नमेंटल पॉलिटिक्स इन चाइना एंड क्लाइमेट डिप्लोमेसी विषय पर डॉक्टरेट की उपाधि प्राप्त की। वे चाइना के सांडौग विश्वविद्यालय में वर्ष 2013 से 2015 तक सीनियर स्कॉलर भी रहे। वे विश्व मामलो
की भारतीय परिषद आईसीडब्लूए, नई दिल्ली में रिसर्च स्कॉलर के पद पर भी कार्य कर चुके हैं। इतना ही नही डॉ राजीव रंजन ने वर्ष 2008 में चीन तथा वर्ष 2011 में स्टडी कैंप फॉर लीडर्स फ्रॉम साउथ एशिया एंड कोरिया के सदस्य के रूप में ताइवान में भाग ले चुके हैं।

Search Article

Your Emotions

    %d bloggers like this: