साहेब की उलटी गिनती शुरू, फिर जेल जायेगा शहाबुद्दीन !

IMG_20160916_092724_308

11 साल बाद शहाबुद्दीन जेल से बाहर तो आया मगर लगता नहीं की सीवान के साहब के नाम से मसहूर ये डॉन 11 दिन भी जेल से बाहर रह पायेगा।  सीवान प्रसाशन ने जिले की हालात पर नीतीश सरकार को एक रिपोर्ट भेजी है। ये रिपोर्ट 13 सितंबर को भेजी गई है, जिसमें कहा गया है कि शहाबुद्दीन के बाद से सीवान में दहशत है। कानून व्यवस्था खराब हो चुकी है। इस रिपोर्ट के बाद पटना से एसटीएफ की स्पेशल टीम चीता को भेजा गया है। प्रशासन ने सरकार को बताया है कि खराब हालात को देखते हुए चंदा बाबू और राजदेव रंजन के परिवार को भी सुरक्षा मुहैया कराया गया है।

इधर नीतीश सरकार शहाबुद्दीन प्रकरण पर पूरी तरह बैकफुट पर आ गई है और अब इसकी भरपाई के लिए हाईकोर्ट के फैसले को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती देने की वकालत कर रही है। यानी जिस सरकार पर शहाबुद्दीन की तरफदारी का आरोप लगा अब वो शहाबुद्दीन के खिलाफ सबसे बड़ी अदालत जाने के लिए तैयार हो गई है।

उधर आज पीड़ित चंदा बाबू का परिवार आज सुप्रीम कोर्ट में शहाबुद्दीन की जमानत को चुनौती देगा। अपनी याचिका में पीड़ित परिवार शहाबुद्दीन को दोबारा जेल भेजने की मांग करेगा। आपको बता दें कि शहाबुद्दीन पर आरोप है कि उसने चंदा बाबू के तीन बेटों की हत्या करवाई थी। इससे पहले कल सर्वोच्च अदालत में पत्रकार राजदेव रंजन की बीवी भी याचिका दायर कर चुकी हैं। आशा रंजन ने अपनी याचिका में शहाबुद्दीन के खिलाफ केस दर्ज करने की मांग की है।

 

इन कवायदों से ऐसा लग रहा है कि डॉन की उलटी गिनती शुरू हो गई है। सीवान का साहेब जल्द ही सलाखों के पीछे होगा क्योंकि पत्रकार राजदेव की हत्या की जांच सीबीआई कर रही है। तीन बेटों को गवां चुके चंदा बाबू हाईकोर्ट के फैसले को सुप्रीम अदालत में चुनौती दे रहे हैं साथ ही बिहार सरकार भी इस मामले में अपनी लाज बचाने के लिए इस केस को सुप्रीम कोर्ट ले जाने की तैयारी में है।

Search Article

Your Emotions

    %d bloggers like this: