खुशखबरी: मिथिलांचल के इन जिलों में बिछेगा सड़कों का जाल, क्षेत्र के विकास को लगेंगे पंख

मिथिलांचल के पांच जिलों में सड़कों का जाल बिछाया जायेगा. मधुबनी, दरभंगा, सुपौल, सहरसा और समस्तीपुर होते हुए राजधानी पहुंचने वाली सड़कों को 10 मीटर तक विस्तार किया जायेगा. सड़क, परिवहन व राजमार्ग मंत्रालय ने मिथिलांचल के तीन सड़कों का विस्तार करने के लिए निर्णय लिया है. मंत्रालय ने एनएच 327 ए का विस्तार करने के लिए स्वीकृति दी है. सुपौल जिले के सरायगढ़, लालगंज व गनपतगंज सड़क का विस्तार होगा.

 

रोसड़ा से बहेड़ी, बहेड़ा, होते हुए यह सड़क मधुबनी जिले से जुड़ेगी. मधुबनी जिले के उच्चैठ भगवती स्थान बासोपट्टी से बेनीपट्टी, रहिका, मधुबनी, रामपट्टी, अवाम, लोफा, भेजा को सहरसा जिले के महिषी, तारा स्थान, बनगांव, बरियाही व सहरसा से जोड़ा जायेगा. मिथिलांचल के 90 किलोमीटर सड़क को दस मीटर चौड़ा किया जायेगा. सड़क का निर्माण ईपीसी मोड में होगा. वर्तमान में यह सड़क कहीं साढ़े तीन, साढ़े पांच व सात मीटर चौड़ी है. सड़क विस्तार होने से दरभंगा व सहरसा के बीच दूरी कम होने के साथ मिथिलांचल के तीन जिले मधुबनी, सुपौल व सहरसा में आवागमन में सहूलियत होगी. मंत्रालय ने स्टेट हाइवे को नेशनल हाइवे में सैद्धांतिक स्वीकृति दी है. इसके बाद उसका डीपीआर तैयार कराया जा रहा है. इसके लिए कंसलटेंट बहाल होगा. जानकारों के अनुसार अगले साल मार्च तक सड़क का डीपीआर तैयार होगा. इसके बाद सड़क के दस मीटर चौड़ा होने के निर्माण को लेकर टेंडर प्रक्रिया शुरू होगी. सड़क का विस्तार होने से अन्य सड़कों के साथ कनेक्टिविटी बढ़ेगी.

सड़क का विस्तार होने से लोगों की सुविधा बढ़ेगी. वहीं रोजगार के साथ व्यापार भी बढ़ेगा  साथ ही सड़क का विस्तार होने से मिथिलांचल क्षेत्र की कनेक्टिविटी अन्य जगहों के साथ बढ़ेगी. मिथिलांचल में अभी मुख्य सड़क एनएच 57 फोर लेन है. दरभंगा, मधुबनी, सुपौल होते हुए फोर लेन पूर्णिया तक जाती है. सड़क का विस्तार होने से एनएच 106 बीरपुर से बीहपुर के अलावा एनएच 107 महेशखूंट से पूर्णिया से कनेक्टिविटी बढ़ेगी. दरभंगा से सहरसा की दूरी लगभग 60 किलोमीटर कम होगी. इसके साथ ही एनएच 28 में ताजपुर-बख्तियारपुर पुल निर्माण होने पर दक्षिण बिहार आने में सुविधा बढ़ेगी.

 

 

 

Search Article

Your Emotions

    %d bloggers like this: