Instagram Slider

No images found!
Try some other hashtag or username

Latest Stories

Featured Articles
BQhdufh
aapna bihar is one of the best & trusted portal of bihar.good luck.

Featured Articles
BQhdufh
aapna bihar is one of the best & trusted portal of bihar.good luck.

बिहार की कल्पना ने रचा इतिहास, NEET में 99.99 पर्सेंटाइल के साथ देशभर में की टॉप

केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) ने नेशनल एलिजिबिलिटी कम एंट्रेंस टेस्ट (NEET) के परिणाम जारी कर दिए हैं। इस परीक्षा में बिहार की बेटी कल्पना ने इतिहास रच दिया|

इस परीक्षा में बिहार की कल्पना कुमारी ने पहला स्थान हासिल किया है, जिन्हें 99.99 पर्सेंटाइल मिले हैं| उन्हें फिजिक्स में 180 में से 171 अंक, कैमेस्ट्री में 180 में से 160 अंक और बायोलॉजी में 360 में से 360 अंक हासिल किए हैं. उन्हें कुल 720 में से 691 अंक मिले हैं|

मार्क्सशीट

बिहार के शिवहर जिले की रहने वाली है कल्पना 

कल्पना बिहार के शिवहर जिले के तरियानी प्रखंड के नरवारा गांव की रहने वाली है और उसने नवोदय विद्यालय शिवहर से दसवीं तथा बिहार बोर्ड से बारहवीं की परीक्षा पास की है| उसके पिता राकेश मिश्रा शिक्षा विभाग के अधिकारी हैं और फिलहाल सीतामढ़ी में पोस्टेड हैं| कल्पना फिलहाल दिल्ली में रहकर परीक्षा की तैयारी कर रही है| कल्पना के अलावा बिहार के आशीष वैभव को 291वां रैंक मिला है|

66 हजार सीटों के लिए होना है चयन
आपको बता दें कि पूरे देश में एमबीबीएस और बीडीएस कोर्स में प्रेवश पाने के लिए इस साल 6 मई को नीट का आयोजन किया गया था। देश के 136 शहरों के 2255 केंद्रों पर आयोजित इस परीक्षा में 13,26,725 उम्मीदवारों ने भाग लिया था। इनमें 5,80,648 पुरुष उम्मीदवार और 7,46,076 महिला उम्मीदवार शामिल थे जबकि इनमके अलावा एक ट्रांसजेंडर ने भी नीट की परीक्षा दी थी। बता दें कि इस परीक्षा के माध्यम से 66 हजार एमबीबीएस व डेंटल सीटों के लिए चयन किया जाना है।

कैसा था नीट 2018 का पेपर
मेडिकल प्रवेश परीक्षा में शामिल होने वाले छात्रों की मानें तो इस बार पिछले साल के मुकाबले फिजिक्स का पेपर ज्यादा मुश्किल था। जिसके सवाल को सॉल्व करने में काफी समय लग गया। कई छात्रों ने बताया ज्यादातर सवाल NCERT से पूछे गए थे। छात्रों ने फिजिक्स, केमेस्ट्री से बायो सेक्शन को सबसे आसान बताया। वहीं छात्रों ने कहा भले ही इस बार फिजिक्स में न्यूमेरिकल के सवाल मुश्किल थे लेकिन जिन छात्रों ने अच्छे से तैयारी की उनके लिए पेपर आसान रहा होगा। इस बार आयुष कोर्स के लिए भी नीट के जरिए एडमिशन होगा। इसके अलावा दिव्यांग उम्मीदवारों के लिए आरक्षण में इजाफा किया गया है।

 

Facebook Comments

Search Article

Leave a Comment

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: