Nitish kumar to migrants, Special train to Bihar, Schedule of special train for migrantsa, Schedule of shramik Special Train

Shramik Special Train: आज 64 ट्रेनों से एक लाख मजदूर आयेंगे बिहार, देखें शेड्यूल

श्रमिक स्पेशल ट्रेन 20 दिनों से भी ज्यादा दिनों से चल रहा है| मगर अभी भी लाखों प्रवासी मजदूर देश के दूसरे राज्यों में फसे हैं| उनको लाने का सिलसिला लगातार जारी है| आज भी 64 स्पेशल ट्रेनों से लगभग एक लाख श्रमिक बिहार के अलग-अलग जिलों में आयेंगें| फिर उन स्टेशन पर उनके स्क्रीनिंग के बाद बसों से उनके प्रखंड में बने क्व़ारंटीन सेंटरों में भेज दिया जायेगा|

यह है ट्रेनों का शेडूल

जयपुर – अररिया – 3.30 pm जूनागढ़ – पटना – 4am चेंगलपट्टू – सुपौल – 3.15 pm भिलवारा – गया – 12 pm भरुच – पूर्णिया – 12am सूरत – दरभंगा – 6.40 pm जयपुर – कटिहार -3pm श्रीगंगा नगर – पूर्णिया – 4.45 pm राजकोट – भागलपुर – 5.35am अलवर – आरा – 10.30 am सिकंदराबाद – भागलपुर – 6 am

राजकोट – समस्तीपुर – 6.10am अहमदाबाद – किशनगंज – 5 am पालघर – दानापुर – 1.25 am सिकंदराबाद – मुज़फ़्फ़रपुर – 6.30 am अहमदाबाद – मधुबनी – 5.05 am सूरत – कटिहार – 1.30 am वापी – गया – 12.15 am सिकंदरबाद – गया – 5am सूरत – दानापुर – 12.30am सूरत – सिवान – 2.30am राजकोट – भागलपुर – 5.35am BDTS – दरभंगा – 8am

हस्सन – कटिहार – 5.30 PMपनवेल – पटना – 6.45am पनवेल – पटना – 9.45 am पुणे – मुज़फ़्फ़रपुर – 1.10am भिवानी – बेतिया – 9.30 am भिवानी – मोतिहारी – 6.30 am पुणे – जहानाबाद – 8.50 am छत्रपति शिवाजी टर्मिनल – दानापुर – 3.15pm वापी – मधेपुरा -1.30 am जोधपुर – बक्सर – 6am

दुर्ग – दरभंगा – 10.15 am तिरुवल्लूर – पटना- 12.55 pmबेंगलुरु – भागलपुर – 6amचेन्नई – दरभंगा – 3.05 pm पालघाट – बेतिया – 05.50 pm हबीबगंज – दरभंगा – 6.20pm

सिकंदराबाद – भागलपुर – 8am पुणे – पटना – 5.20pm वसई रोड – बेतिया – 9PM पुणे – कटिहार – 8.15pm लोकमान्य तिलक – मुज़फ़्फ़रपुर – 9.40pm लोकमान्य तिलक – पटना – 5.40pm उधना – मुज़फ़्फ़रपुर – 7.30 pm सूरत – मधुबनी- 9.45pm उधना – छपरा – 10pm झाँसी – बरौनी – 5.30 pm उधना – सासाराम – 6.30 pm

सिकंदराबाद – दरभंगा – 6am भावनगर – बेतिया – 7.50 am राजकोट – मुज़फ़्फ़रपुर – 9.20 am वापी – भागलपुर – 7.10. am सूरत – मुज़फ़्फ़रपुर – 5.30 am वापी – बरौनी – 5.45 am सिकंदराबाद – मुज़फ़्फ़रपुर – 2 pm सिकंदराबाद – दानापुर – 8am लोकमान्य तिलक – दरभंगा – 4.30 PM लोकमान्य तिलक – दरभंगा – 3.45pm सूरत – आरा – 4.55am सिकंदराबाद – मुज़फ़्फ़रपुर – 6.30am झाँसी – वाराणसी – 5am भिवानी – अररिया – 4 pm

 

 

Shramik Express

बिहार में प्रवासी मजदूरों के लिए चलाई जा रही है मुफ्त अंतर जिला श्रमिक ट्रेन

दूसरे राज्य से बिहार पहुँच रहे प्रवासी मजदूरों को अपने गृह जिलें में पहुँचाने क लिए बिहार सरकार ने एक बड़ा फैसला लिया है| सरकार राज्य में 26 अंतर जिला श्रमिक स्पेशल ट्रेन चला रही है| ये ट्रेने बिल्कुल मुफ्त है| इसके लिए मजदूरों को कोई पैसा नहीं देना होगा| विभिन्न जिलों के बीच ये ट्रेने प्रतिदिन चलती है| रोज लगभग 40 हज़ार प्रवासी मजदूर इससे अपने गृह राज्य के स्टेशन पर पहुँच रहे हैं| वहां से जिला प्रशासन उनको अपने गृह प्रखंड के क्व़ारंटीन सेंटरों में बस से ले जाते हैं|

सरकार की तरफ से बरौनी, बेतिया, बक्सर, दानापुर, जलालपुर, कर्मनाशा, कटिहार, मधुबनी, सीवान और सुपौल स्टेशन से विभिन्न जिलों के लिए ट्रेन चलाई जा रही है|


यह भी पढ़ें: 1 जून से बिहार आने के लिए चलेगी ये 21 ट्रेने, देखिये पूरी लिस्ट


दानापुर, जलालपुर और कर्मनाशा स्टेशन से हर दिन 5-5 ट्रेने राज्य के अलग-अलग जिलों के लिए खुलती हैं| वहीं बरौनी से तीन, बेतिया से दो, कटिहार, गया, बक्सर, मधुबनी, सीवान और सुपौल से एक-एक अंतरजिला श्रमिक स्पेशल ट्रेन चल रही है|

राज्य के परिवहन सचिव संजय अग्रवाल के अनुसार इन ट्रेनों से अपने गृह स्टेशन पहुँच रहें मजदूरों को अपने प्रखंड क्व़ारंटीन सेंटर पहुँचाने के लिए 1200 से अधिक मुफ्त बसें चलाई जा रही है| वहीं सरकार ने मजदूरों को पैदल नहीं चलने की अपील की है| उन्होंने बताया की जो मजदूर पैदल बिहार पहुँच रहे हैं वे अपने नजदीकी पुलिस स्टेशन और बस पड़ाव में जाकर बस पकड़े| इस संबंध में सभी जिला अधिकारी को निर्देश दिया गया है कि मजदूरों को बसों के माध्यम से उन्हें अपने प्रखंड पहुंचाए|


यह भी देखें: जानिए कैसे मिलेगा लोगों को बिहार में ही रोजगार ?


Nitish v/s kejriwal, delhi government on migrants workers, Special train from delhi to bihar, time table of shramik special train

केजरीवाल सरकार को मजदूरों का रेल किराया देने का क्रेडिट भी लूटना है और बिहार से पैसा भी

कल 3 बजे शाम में दिल्ली से दूसरी श्रमिक स्पेशल ट्रेन बिहार के मुजफ्फरपुर के लिए रवाना हुई| ट्रेन 1200 मजदूरों को लेकर आज मुजफ्फरपुर रेलवे स्टेशन पहुँचीं मगर ट्रेन के किराया को लेकर दिल्ली सरकार और बिहार सरकार बच्चों की तरह लड़ रही है|

1200 यात्रियों को ट्रेन से बिहार भेजने के बाद दिल्ली सरकार ने जहाँ एक तरह यह दावा किया कि मजदूरों को ट्रेन का किराया बिहार दिल्ली सरकार ने दिया तो दूसरी तरह यह भी आरोप लगाया कि बिहार सरकार ने इन मजदूरों के ट्रेन का किराया नहीं दिया है| इसबार बिहार सरकार भड़क गयी| बिहार सरकार में मंत्री संजय कुमार झा ने इसपर पलटवार करते हुए कहा, श्रमिकों के ट्रेन किराया को लेकर दिल्ली सरकार के मंत्री झूठ बोल रहे हैं, क्योकि दिल्ली सरकार ने बिहार सरकार से किराया रिइम्बर्स कराने की मांग के लिए एक पत्र लिखा है|”

संजय झा आगे कहते हैं कि एक तरफ आप यह कहते हुए क्रेडिट ले रहे हैं कि आप उन्हें अपने पैसे वापस भेज रहे हैं और दूसरी तरफ आप बिहार सरकार से पैसे वापस करने के लिए कह रहे हैं|

इस ट्वीट के जवाब में कुछ देर पहले मंत्री गोपाल राय ने ट्वीट किया है- ‘ये सच है कि दिल्ली सरकार ने बिहार सरकार को चिट्ठी लिखा था। ये भी सच है कि कल दिल्ली सरकार ने 1,200 श्रमिकों का किराया रेलवे को देकर उन्हें मुजफ्फरपुर के लिए रवाना कर दिया। लेकिन ये भी सच है कि बिहार सरकार की तरफ से कोई जवाब नहीं आया।’


यह भी पढ़ें: नीतीश सरकार इस योजना के तहत किसानों को देगी 10 हज़ार रूपये, यहाँ करें रजिस्ट्रेशन


 

ज्ञात हो कि केंद्र सरकार ने जो नियम बनाये हैं, उसके हिसाब से ट्रेन का 85% किराया केंद्र देगी और 15% किराया उस राज्य को देना होगा जहाँ प्रवासी मजदूर जा रहे हैं| बिहार सरकार मजदूरों को यह किराया राज्य में 21 दिन क्वारंटीन में गुज़ारने के बाद देने की बात कह रही है| वहीं दिल्ली सरकार का कहना है कि ये मजदूर राज्य के शेल्टर होम में रह रहें हैं, वे पहले इसका किराया कैसे देंगें, इसलिए दिल्ली सरकार इसका पैसा देगी|

अब सवाल है कि दिल्ली सरकार पैसा देना का क्रेडिट ले रही है तो फिर बिहार सरकार को पैसा वापस देने के लिए पत्र क्यों भेजी? मजदूरों के नाम पर ऐसी ओछी राजनीति करना पूरी तरह से गलत है|