2016 में बिहार के क्राइम ग्राफ में गिरावट, 20% की आई कमी

वर्ष 2016 में तो बिहार कई वजहों से चर्चा में रहा मगर सबसे ज्यादा शराबबंदी के कारण बिहार पूरे देश भर में सुर्खियों में बना रहा । शराबबंदी के कारण फायदे और नुकसान की तो कई बातें हो रही है मगर शराबबंदी के कारण एक बहुत बड़ा बदलाव दिख रहा है वह है अपराधिक मामलों में कमी ।

 

एडीजी (मुख्यालय) सुनील कुमार ने शुक्रवार को सचिवालय स्थित अपने कार्यालय में आयोजित प्रेस वार्ता में बीत रहे वर्ष 2016 में शराबबंदी को अपराध की कमी का सबसे महत्वपूर्ण कारण बताया. उन्होंने कहा कि शराबबंदी के बाद राज्य में सभी तरह के अपराधों में काफी कमी आयी है.

 

वर्ष 2015 की तुलना में 2016 के दौरान सभी तरह के आपराधिक घटनाओं में सम्मिलित रूप से औसतन 20 फीसदी की कमी आयी है. हत्या के मामले में 24 फीसदी, डकैती की घटनाओं में 26 प्रतिशत, लूट में 19 प्रतिशत, गृभेदन या चोरी में तीन फीसदी, फिरौती के लिए अपहरण के मामलों में 42 प्रतिशत, रेप में छह प्रतिशत व सड़क दुर्घटनाओं में 20 फीसदी की कमी आयी है. उन्होंने कहा कि आंकड़े बताते हैं कि शराबबंदी से अपराध में कमी आयी है. पुलिस हर तरह की चुनौती का सामना करने के लिए तैयार है.

 

शहाबुद्दीन की पत्नी को MLC बनाएंगे लालू यादव!

राजद के बिहार के सत्ता में वापसी के साथ ही बाहुबली शहाबुद्दीन का रूतबा भी फिर बढ़ने लगा है।  अभी सीवान के पत्रकार राजदेव की हत्या की आग बुझी नहीं थी कि लालू प्रसाद ने शहाबुद्दीन को इनाम दे दिया! 

 

साहाबुद्दीन की पत्नि

शहाबुद्दीन की पत्नी

जी हाँ,  भागलपुर जेल में बंद RJD नेता शहाबुद्दीन की पत्नी हिना शहाब के लालू कोटे से विधान परिषद जाने का रास्ता साफ हो गया है। सूत्रों के अनुसार सोमवार को हुई RJD की बैठक में इस बात का फैसला हो गया है।

 

शहाबुद्दीन की पत्नी हिना शहाब राजद कोटे से विधान परिषद जाएंगी।
सूत्रों के हवाले से खबर मिली है कि राजद की बैठक में इसपर मुहर भी लग गई चुकी है। यह पहली बार नहीं है कि लालू शहाबुद्दीन पर मेहरवान हो रहे हो।

इससे पहले भी शहाबुद्दीन राजद कोटे से कई दफा विधानसभा और लोकसभा के सदस्य बन चुके हैं। जर्नलिस्ट राजदेव रंजन हत्या मामले में नाम आने पर शहाबुद्दीन को सीवान जेल से भागलपुर जेल भेज दिया गया है। कहा तो यह भी जा रहा है कि शहाबुद्दीन इससे नाराज है और लालू प्रसाद यादव उसे मानाने के लिए यह फैसला लिये है।

 

शहाबुद्दीन

शहाबुद्दीन

इस फैसले से जेदयू के कई नेता नाराज है।  ज्ञात हो कि शहाबुद्दीन का सिवान में एक बाहुबली का छवी है।  उस पर हत्या जैसे कई संगीन आरोप है और अभी जेल मे है।  अभी कुछ दिन पहले हुए पत्रकार राजदेव हत्याकांड में शहाबुद्दीन का हाथ होने का शक है।