bihar, sushil modi, nitish kumar government, bjp in Bihar

सुशील मोदी को बिहार से निकाल कर देश के वित्त मंत्री का जिम्मेदारी देना चाहिए

सभी कयासों के बाद आखिरकार वही हुआ जो होना था। नीतीश कुमार का मुख्यमंत्री तो बनना तय था, अब उपमुख्यमंत्री पद पर सुशील मोदी के नाम पर भी मुहर लग गई है। नीतीश कुमार सरकार बनाने के लिए दावा भी कर चुके हैं और खबर आ रही है कि कल शाम 4:30 में शपथ ग्रहण समारोह भी होगा|

हर बार भाजपा का एक गुट सुशील मोदी को दरकिनार करने की कोशिश करती है मगर हर बार सुशील मोदी सब पर भारी पड़ते हैं। सुशील मोदी ने अपना पूरा राजनीतिक जीवन बिहार में भाजपा को खड़ा करने में लगाया है। उनके विरोधी को समझना चाहिए कि सुशील मोदी के प्रभाव को बिहार बीजेपी में कम नहीं किया जा सकता है मगर सुशील मोदी से समझौता जरूर किया जा सकता है। उनको बड़ा जिम्मेदारी देकर बिहार भाजपा में नये नेतृत्व के लिए जगह जरूर बनाई ज सकती है।

डबल इंजन सरकार का सही मायने में फायदा तभी होगा जब केंद्रीय वित्त मंत्रालय किसी बिहारी के हाथ में होगा। बीजेपी केंद्रीय नेतृत्व को देश के वित्त मंत्री का कार्यभार सुशील मोदी को देना चाहिए। उनके पास एक राज्य का वित्त मंत्री होने का लंबा अनुभव भी है और निर्मला सीतारमण से बेहतर काम करने की क्षमता भी। अभी जीएसटी कंपनसेशन को लेकर चल रहे केंद्र और राज्य सरकारों के विवाद को लेकर भी सुशील मोदी कारगर साबित हो सकते हैं। कुल मिलाकर सुशील मोदी के वित्त मंत्री बनने से बिहार, देश के साथ बीजेपी को भी फायदा होगा।

बाकी नीतीश कुमार को बिहार का मुख्यमंत्री और सुशील मोदी को उपमुख्यमंत्री चुने जाने की बधाई!

अविनाश कुमार (संपादक, अपना बिहार)

खुशखबरी : अब उत्तर बिहार में रसोई गैस की कमी नहीं होगी

मुजफ्फरपुर: 10 जून बिहार के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण और लाभदायक रहा।  बिहार को केंद्र सरकार के दो विभागों के तरफ से बिहार के लिए खुशखबरी आई।  एक तरफ मोतिहारी में रेल मंत्री सुरेश प्रभु बिहार के लिए कई योजनाओं का घोषणा कर रहे थे तो दुसरे तरफ मुजफ्फरपुर में केंद्रीय पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) धर्मेंद्र प्रधान ने भी बिहार को खुशखबरी दी।  

dharmendra Muzaffarpur

केंद्रीय पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) धर्मेंद्र प्रधान ने घोषणा किया कि ओडिशा के पारादीप से सीधे मुजफ्फरपुर तक पाइपलाइन से एलपीजी पहुंचेगी। यह गोरखपुर होते हुए लखनऊ तक जाएगी और साथ ही मोतिहारी में नया बॉटलिंग प्लांट खोला जाएगा।

इससे उत्तर बिहार में रसोई गैस की कमी नहीं होगी। वे इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन लिमिटेड के प्रागंण में आयोजित विकास पर्व कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे। इससे पूर्व उन्होंने इंडेन बॉटलिंग प्लांट में दूसरे केरोजल का शुभारंभ भी किया।

शुक्रवार को मंत्री ने कहा कि उपभोक्ताओं की संख्या बढ़ रही है। इसको ध्यान में रखकर नये बॉटलिंग प्लांट खुलेंगे। देश में जितनी भी रिफाइनरी हैं उनको एक साथ जोड़ा जाएगा।

केंद्रीय मंत्री के घोषणा के अनुसार मोतिहारी में नये प्लांट की स्थापना से मुजफ्फरपुर, सीतामढ़ी, सारण, सीवान, शिवहर, गोपालगंज, पश्चिमी चंपारण, पूर्वी चंपारण व वैशाली जिले को लाभ होगा।

केंद्रीय मंत्री ने यह भी कहा मोदी सरकार का दो वर्ष पूरे होने पर हम यहा अपनी अपलब्धि गिनाने नहीं बल्कि जनता को हीसाब देने आए है।  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी देश में प्रधान सेवक के रूप में दो वर्षों से दिन रात काम कर रहे है।

मंत्री ने दावा किया कि बिहार में कुछ वर्ष पहले तक सौ में से सिर्फ 26 घरों में ही एलपीजी थी। पिछले साल काम किया। वर्ष 2016 में इसकी संख्या 36 तक पहुंच गई और सरकार का लक्ष्य लक्ष्य पांच करोड़ घरों तक गैस कनेक्शन पहुंचाना है, जिसमें बिहार में डेढ़ लाख घरों तक यह पहुंच चुका है।