घर वापसी ट्रेन: श्रमिक स्पेशल ट्रेन का कैसे मिलेगा टिकट और कौन करेगा खाने-पीने की व्यवस्था?

यह ट्रेन तभी चलेंगी जब कम से कम 90 फीसदी सीटों की बुकिंग हो जायेगी

लॉकडाउन में फसे लोगों को अपने घर पहुचाने के लिए रेलवे ने स्पेशल ट्रेन चलाना शुरू किया है| रेलवे ने इसका नाम ‘श्रमिक स्पेशल ट्रेन’ रखा है| यह ट्रेन आम ट्रेन से अलग है और इसके चलाने की प्रक्रिया से लेकर टिकट बुकिंग के तरीके भी अलग हैं|

पिछले रविवार को रेलवे ने इस विशेष ट्रेन को लेकर गाइडलाइन्स जारी किये| जिसके तहत ये ट्रेनें तभी चलेंगी जब कम से कम 90 फीसदी सीटों की बुकिंग हो जायेगी| सभी ट्रेने कम से कम 500 किलोमीटर के लिए होंगी और सिर्फ अपने अंतिम स्टेशन पर ही रुकेगी| एक ट्रेन में (मिडिल बर्थ को छोड़कर) करीब 1200 लोग सफर कर सकते हैं।

किसके जरिये होगा टिकट की बुकिंग?

टिकट बुकिंग और 90% यात्रियों का समूह तैयार कराने की जिम्मेदारी उस राज्य की होगी जहाँ से यह स्पेशल ट्रेन खेलेगी| लोगों को टिकट भी उसी राज्य सरकार के जरिये मिलेगी| टिकट का किराया भी राज्य सरकार यात्रियों से जमा करके रेलवे को सौपेगी| यात्रियों की सुरक्षा भी राज्य सरकार को करनी है| राज्य सरकार ही यात्रियों को सुरक्षित तौर पर स्टेशन पर लाती है और यह सुनिश्चित करती है की स्टेशन पर वही आये जिसके पास टिकट है|

कौन करेगा यात्रियों के खाने का इंतजाम?

श्रमिक स्पेशल ट्रेन से यात्रा करने वाले यात्रियों के खाने-पिने की व्यवस्था वह राज्य सरकार करती है जहाँ से ट्रेन खुलती है| अगर यात्रा का समय 12 घंटे या उससे से ज्यादा की होगी तो एक और टाइम खाना दिया जाता है जो की रेलवे देती है| इसके साथ इस त्रैनसे यात्रा करने वाले को मास्क पहनना जरुरी है एवं यात्रियों को आरोग्य सेतु ऐप डाउनलोड करने के लिए कहा जाता है|

अपने राज्य पहुचने पर क्या करना होगा?

ट्रेन के गंतव्य स्टेशन पहुँचाने पर सारा जिम्मेदारी वहां के राज्य सरकार संभालती है| स्थानीय प्रशासन को स्क्रीनिंग, क्वारंटाइन और आगे की यात्रा आदि की व्यवस्था करती है| सामाजिक दूरी का पालन करवाने के लिए उचित सुरक्षा व्यवस्था की व्यवस्था सरकार को करना होता है|

कैसे करें घर आने के लिए रजिस्ट्रेशन?

घर आने को लेकर उत्सुक सभी लोग यही पूछ रहे हैं कि आने के लिए रजिस्ट्रेशन कहाँ करें| इसके लिए सभी राज्य सरकार ने रजिस्ट्रेशन पोर्टल लांच किया है| जिसका लिंक निचे दिया गया है| मगर उससे पहले यह ठीक से समझ लें- स्पेशल ट्रेन से यात्रा करने वाले का रजिस्ट्रेशन उसी राज्य सरकार के पोर्टल से होगा, जहाँ अभी आप हैं| यानी अगर आप अभी राजस्थान में है और बिहार आने चाहते हैं तो आपको राजस्थान सरकार के रजिस्ट्रेशन पोर्टल में अपना नाम देना होगा न कि बिहार सरकार के| 

राज्य (जहां फंसे हैं बिहारी) और संबंधित क्षेत्र का लिंक

दिल्ली: delhipolice.nic.in
मध्य प्रदेश:  https://mapit.gov.in/covid-19/
गुजरात: https://www.digitalgujarat.gov.in/loginapp/CitizenLogin.aspx
पंजाब:  https://covidhelp.punjab.gov.in
महाराष्ट्र: https://covid19.mhpolice.in
राजस्थान:https://emitraapp.rajasthan.gov.in/emitraApps/covid19MigrantRegistrationService
हिमाचल प्रदेश: http://covidepass.hp.gov.in/
तामिलनाडु: http://tnepass.tnega.gov.in
हरियाणा: https://edisha.gov.in/eForms/MigrantService
कर्नाटक: https://sevasindhu.karnataka.gov.in/Sevasindhu/English
उत्तराखंड: http://dsclservices.org.in/uttarakhand-migrant-registration.php या http://smartcitydehradun.uk.gov.in/
उड़ीसा: https://covid19regd.odisha.gov.in/
केरल:  https://registernorkaroots.org
छत्तीसगढ़:  https://cglabour.nic.in
उत्तर प्रदेश:  https://uplabour.govt.in
पश्चिम बंगाल:  https://wb.govt.in
गोआ:  https://goaonline.govt.in
जम्मू और कश्मीर:  https://serviceonline.govt.in
झारखंड:  https://jharkhandpravasi.in

बिहार: https://covid19.bihar.govt.in (यह लिंक उनके लिए जो बिहार राज्य में फसे हैं और बिहार से बाहर/दूसरे राज्य में जाना चाहते हैं|)

Search Article

Your Emotions

    %d bloggers like this: