कल पुरे बिहार में बनेगी विश्व की सबसे बड़ी मानव श्रृंखला

बिहार एक बार फिर इतिहास रचने को तैयार है। मानव श्रृंखला के अपने पिछले दो वर्ल्ड रिकॉर्ड को तोडऩे और नया रिकॉर्ड बनाने हेतु बिहारवासी तैयार हैं। मानव श्रृंखला को गिनिज बुक ऑफ वर्ल्‍ड रिकार्ड्स में  शामिल  करने की कोशिश की जा रही है। जल-जीवन-हरियाली, नशामुक्ति, बाल विवाह एवं दहेज प्रथा उन्मूलन के खिलाफ रविवार को पूरे प्रदेश में विश्व की सबसे बड़ी मानव श्रृंखला  बनेगी। 

उम्मीद है कि पूर्वाह्न 11.30 बजे से दोपहर 12 बजे तक बनने वाली मानव श्रृंखला  में 4 करोड़, 27 लाख से ज्यादा लोग एक-दूसरे का हाथ थाम कर खड़े होंगे और देश-दुनिया को संदेश देंगे। इसके पूर्व बिहार ने 2017 में नशामुक्ति (शराबबंदी) अभियान को सफल बनाने के लिए विश्व की सबसे लंबी 11292 किमी कतार बना कर रिकॉर्ड बनाया था।

वहीं दूसरी तरफ मानव श्रृंखला की वजह से महागठबंधन में दरार पड़ गई है| महागठबंधन की मुख्य पार्टी आरजेडी के विधायक फराज फातमी ने मानव श्रृंखला का समर्थन किया है और 19 जनवरी को इसमें शामिल होने की बात कही है|

एक कड़ी में जुड़ेगा बिहार

पटना में गांधी मैदान से चार दिशाओं में मानव श्रृंखला का प्रस्थान होगा। जो एक-दूसरे से जुड़ते हुए सभी जिले आपस में श्रृंखला-बद्ध होंगे। जो जहां के हैं, वे वहीं शामिल होंगे। मुख्य सचिव आरके महाजन ने बताया कि 16,351 किलोमीटर की अनुमानित लंबाई की श्रृंखला बनेगी। इसमें 5,052 किमी मुख्य मार्ग और 11,299 किमी उपमार्ग की लंबाई होगी। लगभग दो हजार व्यक्ति प्रति किलोमीटर की दर से 3.27 करोड़ तथा प्रत्येक वार्ड में सौ के हिसाब से एक करोड़ यानी कुल 4.27 करोड़ लोगों के मानव श्रृंखला में शामिल होने की संभावना है। गांधी मैदान में मानव श्रृंखला बिहार के नक्शे पर बनेगी। यहां मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के साथ राज्य सरकार के मंत्री व अधिकारी श्रृंखला का हिस्सा बनेंगे।

हेलिकॉप्टरों से ली जायेगी तस्वीर 

राज्य सरकार खुद ही मानव श्रृंखला का डाक्यूमेंटेशन कराने में जुटी है, जिसे प्रमाण स्वरूप वर्ल्ड रिकॉर्ड दर्ज कराने वाली अंतरराष्ट्रीय एजेंसियों को सौंपा जाएगा। इसके लिए 15 हेलीकॉप्टर से सभी जिलों में मानव श्रृंखला की एरियल फोटोग्राफी और वीडियोग्राफी की जाएगी। इसमें बिहार फ्लाइंग क्लब के 3 हेलीकॉप्टर के अलावा किराये के 12 हेलीकॉप्टर को लगाया गया है।

इस वीडियोग्राफी के लिए हेलीकॉप्टर का इस्तेमाल किया जाएगा। लेकिन अब पूरा विपक्ष नीतीश कुमार के हेलीकॉप्टर के इस्तेमाल के आदेश देने को लेकर उनपर हमलावर हो गया है।

पूर्व सांसद और जन अधिकार पार्टी के नेता पप्पू यादव ने इसपर ट्वीट करते हुए लिखा कि ‘क्या नीतीश जी पटना जलजमाव में डूबा था तो लोगों को बचाने के लिए आपके पास एक चॉपर नहीं था! आपके स्टेपनी डिप्टी सीएम तीन दिन तक फंसे रहे, बिहार की गौरव शारदा सिन्हा जी त्राहिमाम करती रही, एक अदद हेलीकॉप्टर नहीं था। आज मानव श्रृंखला की वीडियोग्राफी के लिए 15 हेलिकॉप्टर! बेशर्म कहीं के!’

Search Article

Your Emotions

    %d bloggers like this: