मोदी के बाद नीतीश जा रहें हैं जापान, बिहार में भी चलेगी बुलेट ट्रेन

प्रधानमंत्री मोदी के मुंबई और अहमदाबाद के बीच बुलेट ट्रेन ड्रीम प्रोजेक्ट के तर्ज पर अब बिहार में भी बुलेट चलाने के लिए पहल हो रही है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बाद अब बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार 18 फरवरी से चार दिनों के लिए जापान दौरे पर जा रहे है। इसके लिए बिहार सरकार और जापान सरकार के बीच औपचारिक समझौते होने की उम्मीद है।

पटना से बोधगया के बीच लगभग 100 किलोमीटर के बीच यह ट्रेन चलेगी। इस रूट का पर्यटन के लिहाज से भी काफी महत्व है। पूरे विश्व के बौद्ध लोगों के लिए बोधगया सबसे बड़ा धार्मिक स्थल है। इस महत्वाकांक्षी प्रॉजेक्ट को जापान सरकार फंड देगी।

बिहार सरकार का दावा है कि इस ट्रेन समझाैते के अलावा जापान से रेकार्ड निवेश के भी प्रॉजेक्ट्स को बिहार में लाने के लिए भी अंतिम रूप दिया जाएगा।

एनबीटी की वेबसाइट पर चल रही खबर में सूत्रों के अनुसार बताया गया है कि पटना-बोधगया के बीच 100 किलोमीटर की यात्रा में राजगीर, नालंदा स्टेशन होंगे. यह पूरा रूट अंडरग्राउंड होगा। इस प्रॉजेक्ट से जुड़े अधिकारियों की मानें तो इस ट्रेन का स्वरूप मेट्रो और बुलेट की तर्ज पर बनेगा। जापान दौरे में विशेषज्ञों के साथ बातचीत कर इसे अंतिम रूप दिया जायेगा। दावा है कि बिहार का यह अब तक का सबसे महंगा प्रॉजेक्ट और निवेश हो सकता है। नीतीश कुमार के साथ बिहार सरकार का एक हाई लेवल प्रतिनिधिमंडल भी जापान जा रहा है. इस बड़े प्रॉजेक्ट के अलावा राज्य सरकार जापान सरकार के साथ करोड़ों रुपये के दूसरे निवेश पर भी समझौता कर सकती है। हाल के वर्षों में नीतीश कुमार की अपने राज्य में निवेश लाने के लिए पहली विदेश यात्रा है।

Search Article

Your Emotions

    %d bloggers like this: