लगातार बढ़ रही है बिहार में आने वाले पयर्टकों की संख्या, टूटा रिकार्ड

राज्य में आने वाले पयर्टकों की संख्या लगातार बढ़ रही है। विदेशी होंं या घरेलू सबको बिहार के पयर्टन स्थल काफी लुभावने लग रहे हैं। वर्ष 2016 में राज्य में आने वाले सैलानियों की संख्या 3 करोड़ तक पहुंच गया। वर्ष 2015 की तुलना में 10 लाख से भी अधिक पयर्टक 2016 में बिहार आयें। विदेशी पर्यटकों की संख्या में भी काफी इजाफा हुआ है।

अगर घरेलू पर्यटकों की बात करें तो इस मामले में पटना जिला सबसे आगे रहा। यहां नवंबर तक 30 लाख से भी अधिक पर्यटक आए। विदेशी पर्यटकों के मामले में इस बार भी गया अव्वल रहा। नवंबर तक यहां ढाई लाख से अधिक विदेशी पर्यटकों ने विजिट किया। अगर बोध गया का भी आंकड़ा इसमें जोड़ दिया जाए तो यह संख्या चार लाख 60 हजार के पार पहुंच जाती है। पटना, गया के बाद सबसे अधिक पर्यटक राजगीर, भागलपुर, मुजफ्फरपुर व वैशाली आए।

शराब बंदी के बाद भी बढ़ी संख्या

ऐसा कहा जा रहा था कि बिहार में शराबबंदी के बाद पर्यटकों की संख्या घटेगी। लेकिन पिछले वर्ष की तुलना में देखें तो अप्रैल से लेकर नवंबर तक पर्यटकों की संख्या में इजाफा ही हुआ है। इस बीच सितम्बर, अक्टूबर में पटना व गया में पर्यटकों की संख्या में थोड़ी गिरावट दर्ज की गई। अप्रैल में राज्य में पूर्ण शराबबंदी लागू हुई थी। अगर पटना की ही बात करें तो अप्रैल- 2015 में 2 लाख 60 हजार 5 सौ 83 पर्यटक आए थे। उसकी तुलना में 2016 में 2 लाख 85 हजार 35 पर्यटक आए। यानी 24 हजार 4 सौ 12 का इजाफा हुआ। इसी तरह मई में 20 हजार 223 पर्यटक बढ़े, जून में लगभग बीस हजार, जुलाई में करीब 61 हजार और अगस्त में 642 पर्यटक 2015 की तुलना में अधिक आए। सितंबर में 806 और अक्टूबर में 24 हजार 667 पर्यटक घटे। नंवबर में फिर इसमें वृद्धि हुई और 25 हजार 192 पर्यटक अधिक आए।

पर्यटन विभाग ने नवंबर (2016) तक का आंकड़ा जारी कर दिया है। नवंबर तक लगभग ढाई करोड़ पर्यटकों को बिहारा आना दिखाया गया है। आधिकारिक सूत्रों के अनुसार दिसंबर का भी आंकड़ा जोड़ने के बाद यह तीन करोड़ तक पहुंच गया है। अभी जिलों से दिसंबर का आंकड़ा आना जारी है।

पितृपक्ष मेला में इस साल आए अधिक विदेशी

पितृपक्ष आने वाले श्रद्धालुओं की संख्या में भी भारी इजाफा हुआ है। पिछले साल की तुलना में इस बार विदेशी श्रद्धालु भी अधिक आए। 2015 में जहां मात्र 26 विदेशी श्रद्धालुआए थे वहीं इस साल इनकी संख्या 3895 पहुंच गई। इसी तरह घरेलु श्रद्धालुओं की संख्या भी पौने सात लाख तक की वृद्धि हुई।

पर्यटक आए बिहार

वर्ष कुल पर्यटक

2012 22544032

2013 22354141

2014 23373885

2015 28952855

Search Article

Your Emotions

    %d bloggers like this: