बिहार के मिथिलांचल की बेटी मधु को मिला प्रतिष्ठित जेम्स वॉट पुरस्कार

मधु का अवार्ड विनिंग पेपर है ‘कोल इन द ट्वेंटी फर्स्ट सेंचुरी, ए क्लाइमेट ऑफ चेंज एंड अनसर्टेंटी

कोरोना संकट के कारण दुनिया की सरहदें बंद है, मगर इस दौरान में भी बिहारियों की कामयाबी की खबर सात समुंदर पार से आने का सिलसिला जारी है| बिहार के दरभंगा की बेटी मधु माधवी को प्रतिष्ठित जेम्स वॉट पुरस्कार दिया जायेगा| मधु का ‘एनर्जी नामक प्रसिद्ध रिसर्च जर्नल में एक शोध प्रकाशित हुआ था, उसी शोध के लिए मधु का नाम इस अवार्ड के लिए चुना गया है|

मधु का अवार्ड विनिंग पेपर है ‘कोल इन द ट्वेंटी फर्स्ट सेंचुरी, ए क्लाइमेट ऑफ चेंज एंड अनसर्टेंटी। मधु माधवी ने अपना शोध कार्य कैंब्रिज ओपन यूनिर्विसटी, सेंटर फॉर डॉक्टरल ट्रेनिंग के अंतर्गत किया है। ओपन यूनिर्विसटी द्वारा यह शोध कार्य वित्त संपोषित है।

ज्ञात हो कि आईसीई पब्लिशिंग हाउस, लंदन प्रतिवर्ष किसी एक उत्कृष्ट रिसर्च को जेम्स वॉट अवार्ड से सम्मानित करता रहा है। वर्ष 2020 के पुरस्कार के लिए मधु माधवी का चुनाव हुआ है। मधु को यह अवार्ड 2020 के अक्टूबर के बाद लंदन में दिया जाएगा।

मालूम हो कि मधु माधवी पूर्व विधान पार्षद प्रो. विनोद कुमार चौधरी एवं डॉ. सरोज चौधरी की पुत्री हैं। मधु माधवी दरभंगा जिले के हायाघाट प्रखंड के विशनपुर गांव की निवासी हैं। पिछले वर्ष मधु ने यूके सिविल सर्विसेज की परीक्षा में सफलता हासिल की थी और वर्तमान में लंदन में ही कार्यरत हैं।

Source: UNIVARTA

Search Article

Your Emotions

    %d bloggers like this: