बिहार के स्वराज को मिला अमेरिका का प्रतिष्ठित ‘सैमुअल हंटिंगटन पब्लिक सर्विस अवार्ड’

अपने मेहनत, प्रतिभा और इमानदारी के लिए बिहार पुरे दुनिया में प्रसिद्ध है| दुनिया भर में फैले बिहारियों के उपलब्धियों के ख़बरें आते रहते हैं| ऐसी ही एक और खबर अमेरिका से आ रही है| बिहार के दरभंगा जिले के मूल निवासी स्वराज प्रियदर्शी ने अमेरिका के प्रतिष्ठित ‘सैमुअल हंटिंगटन पब्लिक सर्विस अवार्ड’ को जीतकर बिहार के साथ देश का नाम रौशन किया है|

सैमुअल हंटिंगटन पब्लिक सर्विस अवार्ड अमेरिकी कॉलेज से स्नातक कर रहे कुछ चुन्निदा छात्रों को दिया जाता है जो कॉलेज के बाद दुनिया के किसी भी हिस्से में जाकर सार्वजनिक सेवा करते हैं| इस अवार्ड के विजेता को 15 हज़ार अमेरिकी डॉलर (लगभग 10 लाख रूपये) दिया जाता है| इस बार मात्र 3 छात्रों को यह पुरस्कार दिया गया है, उसमें से एक बिहार के स्वराज हैं|

ज्ञात हो कि स्वराज प्रियदर्शी ने चार साल पहले 4 करोड़ के फुल छात्रवृति के साथ अमेरिका के प्रतिष्ठित टफ्टस यूनिवर्सिटी में पढने के लिए चुने गये थे| अंतराष्ट्रीय राजनीति के छात्र स्वराज इस साल ग्रेजुएट कर रहें हैं| वे डेक्सटेरिटी ग्लोबल के चीफ ऑफ़ स्टाफ भी हैं| कॉलेज से ग्रेजुएट करने के बाद स्वराज अपने राज्य बिहार लौटकर अपने समाज सेवा के कामों को और आगे बढ़ाएंगे|

1989 में शरू हुआ सैमुअल हंटिंगटन पब्लिक सर्विस अवार्ड को अब तक 77 प्रतिभावान युवाओं को दिया गया है जो दुनिया भर में अपने सामाजिक कार्यों से बदलाव ला रहें हैं| पुरस्कार के प्राप्तकर्ता में मैकआर्थर “जीनियस”, एक अमेरिकी सर्जन जनरल, फोर्ब्स 30 अंडर 30 सम्मान, इंग्लैंड की युवा नेताओं की रानी और 2018 की बीबीसी की सबसे प्रभावशाली महिलाएं शामिल हैं। गौरतलब है कि बिहार के शरद सागर को भी इस सम्मान से सम्मानित किया जा चुका है|

 

Search Article

Your Emotions

    %d bloggers like this: