बिहार के इन जिलों में खुलेंगे 13 नए मेडिकल कॉलेज, केंद्र और राज्य सरकार ने एमओयू किया साइन

राज्य के एक दिवसीय दौर पर आए केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री जेपी नड्डा ने एक बड़ा ऐलान किया। जल्द ही बिहार में 13 मेडिकल कॉलेज खोले जायेंगें| इनके लिए राज्य सरकार ने छपरा, सीतामढ़ी, जमुई और बक्सर में जमीन की पहचान कर ली है।

बिहार में चल रही केंद्रीय स्वास्थ्य योजनाओं और मेडिकल कॉलेजों की स्थिति को लेकर हुई उच्चस्तरीय समीक्षा बैठक के बाद केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने यह ऐलान किया| नड्डा के साथ इस बैठक में स्वाथ्य विभाग के आला अधिकारियों के अलावा मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी और केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण राज्य मंत्री अश्वनी कुमार चौबे भी मौजूद थे। बैठक के बाद मीडिया से बातचीत में केंद्रीय स्वास्थ मंत्री ने कहा कि मेडिकल कॉलेजों की संख्या के बढ़ने से बिहार में चिकित्सा शिक्षा को भी बल मिलेगा।

उन्होंने कहा कि बिहार के 13 मेडिकल कॉलेजों के लिए राज्य सरकार और केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के बीच एमओयू साइन हुआ है।

केंद्रीय स्वास्थ मंत्री ने बताया कि सभी 13 मेडिकल कॉलेजों को दो चरणों में बनाया जाएगा। उन्होंने कहा कि पहले चरण में छपरा, समस्तीपुर और पूर्णिया जिले में मेडिकल कॉलेज बनाए जाएंगे। जबकि दूसरे चरण में जमुई, बक्सर, सिवान, सीतामढ़ी और मधुबनी के झंझारपुर में मेडिकल कॉलेज बनेंगे। साथ ही इन कॉलेजों के साथ अस्पताल भी होंगे। केंद्रीय मंत्री 15 अगस्त से बिहार में आयुष्मान भारत योजना को शुरू करने की भी घोषणा की।

नड्डा ने बताया कि साल 2018-19 के दौरान 38 जिलों के 534 स्वास्थ्य केंद्रों में सुविधाओं को अपग्रेड किया जाएगा और इन्हें अगले साल मार्च तक काम करने योग्य बना दिया जाएगा। उन्होंने कहा, ‘पहले चरण में सभी चयनित जिलों में इस साल 15 अगस्त तक कम से कम दो स्वास्थ केंद्रों को काम करने लायक बना दिया जाएगा। ऐसे केंद्रों के लिए दवाओं, उपकरणों और औजापों की खरीद पहले से ही चल रही है। इसके बाद उन केंद्रों में लोगों की तैनाती की योजना पर काम चल रहा है।’

Search Article

Your Emotions

    %d bloggers like this: