क्यों पड़े हो चक्कर में, 2019 में कोई नहीं है मोदी जी के टक्कर में – नीतीश कुमार

बिहार के सीएम नीतीश कुमार ने सोमवार को साफ किया कि दिल्ली की गद्दी पर पीएम नरेंद्र मोदी का कोई दूसरा विकल्प नहीं है। बिहार में एनडीए सरकार बनने के बाद सीएम नीतीश ने अपनी पहली प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि मोदी का मुकाबला करने की क्षमता किसी में नहीं है। 2019 में मोदी ही पीएम होंगे।

नीतीश से जब पत्रकारों ने पूछा कि क्या 2019 में मोदी फिर से पीएम बनेंगे, इसपर उन्होंने कहा, ‘2019 में दिल्ली की कुर्सी पर कोई और काबिज नहीं होगा।’

 

लालू पर हमला

नीतीश कुमार ने बीजेपी के साथ सरकार बनाने के बाद पहली बार बयान देते हुए लालू यादव को भी निशाने पर लिया. उन्होंने कहा कि लालू को बताना चाहिए कि वो वोट के लिए सेक्यूलरिज्म की बात करते हैं या बेनामी संपत्ति जमा करने के लिए. नीतीश ने कहा कि सेक्यूलरिज्म के नाम बेनामी संपत्ति अर्जित करना और धन कमाना मैं बर्दाश्त नहीं कर सकता. नीतीश ने कहा अगर लालू के पास बेनामी संपत्ति नहीं है, तो उन्हें सफाई देनी चाहिए. नीतीश ने कहा कि महागठबंधन सिर्फ एक परिवार की सेवा के लिए नहीं किया गया था. मैंने लालू और मुलायम से मुझे सीएम उम्मीदवार घोषित करने के लिए नहीं कहा था.

लालू ने 2015 में कहा था कि महागठबंधन के लिए वो जहर पीने को भी तैयार हैं. नीतीश ने पूछा ”क्या मैं जहर हूं?”

नीतीश कुमार ने कहा, “मेरे पास कोई विकल्प नहीं था. हमने हर चीज़ बर्दाश्त की. हमें लगा कि गठबंधन काम करता रहेगा. महागठबंधन की सरकार चलाने की हमने अपनी क्षमता भर पूरी कोशिश की. हमारी पार्टी की तरफ़ से आरजेडी के सुप्रीम लीडर के ख़िलाफ़ किसी ने कोई बात नहीं कही.”

नीतीश कुमार के मुताबिक महागठबंधन टूटने के लिए राष्ट्रीय जनता दल और लालू प्रसाद यादव ज़िम्मेदार थे.

उन्होंने कहा, “हम लोग हर चीज़ को टॉलरेट कर रहे थे. लालू यादव तेजस्वी पर कुछ नहीं बोले. प्रशासनिक कार्यों में भी हस्तक्षेप होता रहा, हमने गठबंधन धर्म का पालन किया. हमने ज़्यादातर टिप्पणियों पर ध्यान नहीं दिया. हमने पहले भी लालू जी से कई बार कहा कि जो आरोप लगे हैं, उस पर तथ्य स्पष्ट कर दिया जाना चाहिए.”

नीतीश ने पत्रकारों के सवाल के जवाब में कहा, “सवाल मेरे ऊपर उठ रहा था कि भ्रष्टाचार के आरोप लगने के बाद नीतीश क्या करेंगे. हमने ये तो नहीं कहा कि जेडीयू के सामने स्पष्टीकरण दें, जनता के सामने भी स्थिति स्पष्ट की जा सकती थी. आरोपों के बाद मुझ पर सवाल उठे, मैंने सिर्फ़ आरोपों पर सफाई देने को कहा.”

 

Search Article

Your Emotions

    %d bloggers like this: