1349 Views

माह-ए-मोहब्बत: शेयर करे अपनों की प्रेम कथा, पढ़ेगा पूरा बिहार

इश्क़, प्यार, मुहब्बत, प्रेम… ये वो शब्द हैं जिन्हें सुनते ही हर दिल धड़क उठता है। कई लोग प्यार में तो कई लोग गुस्से में खून का प्रवाह बढ़ा लेते हैं।
वजह चाहे जो भी हो, लेकिन हर बढ़ते धड़कन के पीछे एक कहानी जरूर होती है। सुनी-अनसुनी,कही-अनकही कहानी!
अक्सर इसके विरोध में हाथ उठते देर नहीं लगती। ऑनर किलिंग की घटनाएँ इसकी ओर ही इशारा करती हैं। लेकिन फिर भी, प्रेम का भाव हर किसी में होता है। ये प्रवाह जारी रहता है अनवरत, आजीवन।
बिहार की ऐसी ही कहानियों की तलाश कर रहे हैं हम जो हैप्पी एन्ड तक पहुँची हैं। गली, मोहल्ले, स्कूल, कॉलेज और ऑफिसों से निकल के वो कहानियाँ जो जीवन सफल बनाने का जरिया बन गईं। ग़लतफ़हमी में न रहें! प्रेम कहानियाँ तो उनकी भी होती हैं जिनकी अर्रेंज मैरिज हुई हो।
अगर कोई ऐसा ही खास किस्सा आपके आसपास भी तैर रहा हो तो बस लिख भेजिए [email protected] पर।


माह-ए-मुहब्बत का आगाज़ होने वाला है। जैसा कि आप जानते हैं आपके ‘आपन बिहार’ ने अमूमन हर क्षेत्र में आपके सहयोग से अपनी पैठ जमाने की सफल कोशिश की है। एक क्षेत्र अनछुआ रह गया था- ‘लेखनी’ का क्षेत्र।
कई सन्देश आते हैं आपके कि हम लेखनी के लिए, लिखने वालों के लिए क्यों नहीं सोचते? तो लीजिये, अब इस क्षेत्र में आगमन की भी पूरी तैयारी हो चुकी है।
माह-ए-मुहब्बत यानि फरवरी में आपसे कहानियाँ सुनना चाहता है आपन बिहार। कहानियाँ प्रेम की, प्रेमियों की।
भाग लेने के लिए अपने आसपास से कहानियाँ ढूँढिये, गुनिये, बुनिये और हमें लिख भेजिए [email protected] पर। कहानी पसंद आई तो आपकी कहानी को बिहार की कहानी बनते देर नहीं लगेगी। उसे वेबसाइट पर पब्लिश करने की जिम्मेदारी हमारी।
आगे की जानकारियों के लिए बने रहिये।
धन्यवाद!

Search Article

Your Emotions

    %d bloggers like this: