‘सर, कम से कम सेकेंड डिवीजन से पास करवा दीजिए….: रूबी

पटना: बोर्ड औफिस इंटरव्यू देने पहुंची रूबी राय को एसआईटी ने वही से गिरफ्तार कर लिया।  

बोर्डऑफिस से गिरफ्तारी के बाद एसआईटी की पूछताछ में आर्ट्स टॉपर रही रूबी राय अचानक भावुक हो गई।

‘सर, कम से कम सेकेंड डिवीजन से पास करवा दीजिए। हमको फर्स्ट डिवीजन नहीं चाहिए। कईसे फेल कर गए। हम परीक्षा दिए थे। रोज जाते थे सेंटर पर।…’

 

बकौलरूबी ‘बच्चा राय ने मुझे टॉप करा दिया। पापा बच्चा राय से मिलते थे पर टॉपर कराना नहीं चाहते थे। इसके लिए कभी बातचीत नहीं हुई थी। परीक्षा के समय पापा ने मेरा ध्यान रखने को कहा तो बच्चा राय ने रिजल्ट में टॉप करा दिया। वे मेरे रिश्तेदार नहीं है।’ कोर्ट से जारी वारंट के आधार पर हुई गिरफ्तारी के बाद बीती रात रूबी को गांधी मैदान इलाके में स्थित महिला थाने में रख कर पूछताछ की गई थी। इसके बाद दोपहर बाद उसे थाने से पेशी के लिए कड़ी सुरक्षा में कोर्ट ले जाया गया।

 

कभी-कभी ही कॉलेज जाने के अलावा परीक्षा केंद्र पर जाकर इंटर की परीक्षा देने की बात तो रूबी ने स्वीकारी, पर एसआईटी के सवालों की बौछार के बीच टॉपर गेम में खुद के साथ ही अभिभावक का भी बचाव करने की कोशिश की। कुछ सवालों में उलझी तो सफाई से कह दिया कि हमको नहीं मालूम।

 

रुबी राय के गिरफ्तारी के बाद यह मामला फिर से सोशल साईटों पर ट्रेंड करने लगा।  रूबी राय के गिरफ्तारी पर बहुत प्रतिक्रिया आई मगर अधिकतर लोग अभिवावक और बोर्ड के गलती के कारण रूबी को गिरफ्तार करने को गलत मान रहे है तो कुछ इसे सही भी मान रहें।

तो वही रालोसपा के प्रदेश अध्यक्ष डॉ. अरुण कुमार ने कहा कि इंटर टॉपर घोटाले की नैतिक जिम्मेदारी मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को लेनी चाहिए। छात्र-छात्राओं की गिरफ्तारी अनुचित है। वे मीडिया से बात कर रहे थे।

Search Article

Your Emotions

    %d bloggers like this: