मेडिकल इंट्रेंस एग्जाम : नीट में फिर बिहारी छात्रों का जलवा, टॉप 100 में कई बिहारी

wp-1471427494547.jpeg

कल मेडिकल इंट्रेंस एग्जाम नीट 1 और नीट का परिणाम घोषित किया गया, बिहार के छात्र-छात्राओं ने फिर अपना परचम लहराया और राज्य का नाम रौशन किये।
टॉप 100 में बिहार के कई छात्रों को जगह मिला।

image

गुजरात के हेत शाह ने 99.99 पर्सेंटाइल अंक हासिल करके टॉपर बने हैं। उसे 720 में 685 अंक मिले हैं। इस बार चार ट्रांसजेंडर ने भी नीट क्वालीफाई किया। बिहार  के भी कई बच्चे टॉप-100 में जगह बनाने में सफल हुए हैं। बेतिया की शिवांगी को मिला 52वां रैंक…

– बेतिया की छात्रा शिवांगी गुप्ता को ओबीसी कैटेगरी में 52वां रैंक मिला है, जबकि जनरल कैटेगरी में उसका रैंक 334 है।
– इसके अलावा प्रदीप डेनियल मरांडी का अपनी कैटेगरी में रैंक 84, नालंदा की अंशिका की अपनी कैटेगरी में 128वां रैंक है।
– वहीं पटना के आयुष आनंद को कैटेगरी में 277 व सत्यम कुमार को 342वां रैंक मिला है।
– निखिल कुमार का जनरल में रैंक 672, हिमांशु राज का 611, आकांक्षा सुमन का 1074 है।
– निवेदिता शंकर को कैटेगरी में 112, शिवानी को जनरल में रैंक 845 मिला है।
– जगदेव पथ की आनंद प्रियदर्शिका को कैटेगरी में 759वां रैंक मिला है।

परसेंटाइल के आधार पर है नीट का रिजल्ट

– नीट का रिजल्ट मंगलवार को जारी हुआ। गोल के फाउंडर व मैनेजिंग डायरेक्टर विपिन कुमार सिंह ने बताया कि नीट का रिजल्ट परसेंटाइल के आधार पर निकाला गया है।
– इसमें जनरल कैटेगरी से 171329, ओबीसी से 175226, एससी से 47183 और एसटी से 15170 छात्रों ने क्वालिफाई किया है।
– नीट का फेज वन 1 मई को आयोजित किया गया था जबकि दूसरा फेज 24 जुलाई को आयोजित हुआ था।
– नीट का रिजल्ट 17 अगस्त को जारी होना था, लेकिन बोर्ड ने एक दिन पहले ही रिजल्ट घोषित कर दिया है।

7 हजार रैंक तक को एमबीबीएस

– विशेषज्ञों के अनुसार 7 हजार तक जनरल कैटेगरी में ऑल इंडिया रैंक लाने वाले छात्रों को सरकारी मेडिकल कॉलेजों में एमबीबीएस मिलने की संभावना है।
– विपिन कुमार सिंह ने बताया कि ओबीसी में 1500, एससी-एसटी कैटेगरी में 600 से 700 रैंक लानेवाले छात्रों को 15% कोटा के तहत सरकारी कॉलेजों में एमबीबीएस मिल सकता है।
– बिहार स्टेट के 85% कोटा के लिए 16 हजार ऑल इंडिया रैंक लानेवाले जनरल कैटेगरी के छात्रों को बिहार के सरकारी मेडिकल कॉलेजों में दाखिले की उम्मीद है।
– वहीं बीसी, ईबीसी, एससी एवं एसटी कैटेगरी वाले छात्रों को इससे पीछे रैंक तक में एमबीबीएस मिलने की संभावना है।

लूसेंट के छात्र को 1295वां स्थान

– लूसेंट इंटरनेशनल स्कूल देहरादून के उपाध्यक्ष एवं गुरुकुल ट्यूटोरियल्स पटना के संस्थापक ई. भूपेश कुमार ने बताया कि लूसेंट के छात्रों ने नीट में अच्छा प्रदर्शन किया है।
– छात्र आलोक कुमार ने ऑल इंडिया में 1295वां स्थान हासिल किया है।

Facebook Comments

Tags

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Time limit is exhausted. Please reload CAPTCHA.

top