बिहार में फिर हुआ 15 दिन के लिए लॉकडाउन, जानिए क्या मिलेगी छूट, क्या हैं पाबंदियां

सभी कॉमर्शियल और प्राइवेट संस्थान बंद रहेंगे। सिर्फ फल, सब्जी, अनाज, दूध, मछली आदि के दुकान खुल सकेंगे। हालांकि प्रशासन इनकी होम डिलिवरी की हर संभव व्यवस्था करने का प्रयास करेगा। 

देश में कोरोना की रफ्तार रुकने का नाम ही नहीं ले रही है। सरकार के कई प्रयासों के बावजूद संक्रमण और मौतों को स‍िलस‍िला जारी है। कई प्रदेशों में लॉकडाउन के बाद कोरोना के मामलों में जबरदस्त उछाल देखा गया है इसी बीच ब‍िहार में नीत‍ीश सरकार ने राज्य में 16 जुलाई से 31 जुलाई तक संपूर्ण लॉकडाउन लगाने का ऐलान क‍िया है।

हलांकि इस दौरान सभी इमरजेंसी सेवाएं सुचारू रूप से जारी रहेंगी।  बिहार सरकार द्वारा जारी की गई अधिसूचना के मुताबिक पूर्ण लॉकडाउन की अवधि के दौरान पूरे बिहार में इमरजेंसी सर्विस को छोड़कर,  परिवहन सेवा, शॉपिंग मॉल आदि  बंद रहेंगे, वहीं धर्मिक संस्थान को भी बंद करने का आदेश दिया गया है। सुबह और शाम फल-सब्जी सहित जरूरी सेवा की दुकानें खुली रहेंगी।

बिहार में लगातार बढ़ते कोरोना वायरस के संक्रमण को देखते हुए बिहार सरकार ने पूरे राज्य में अगले 15 दिन तक संपूर्ण लॉकडाउन लगाने का फैसला किया है। सोमवार को इस संबंध में प्रस्ताव तैयार कर लिया गया था. इस पर अंतिम मुहर के लिए मंगलवार को मुख्य सचिव दीपक कुमार की अध्यक्षता में क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप (सीएमजी) की बैठक हुई।

जारी हुई गाइड लाइंस

आवश्यक केंद्र सरकार के अधीन सभी दफ्तर लॉकडाउन के दौरान पूरी तरह बंद रहेंगे। डिफेंस, पुलिस, पेट्रोल पंप, पोस्ट आफिस सहित कुछ कार्यालयों को इस लॉकडाउन से छूट दी गई है। बिहार सरकार के अधीन सभी सरकारी कार्यालय भी लॉकडाउन के दौरान बंद रहेंगे।

बिजली, पानी, स्वास्थ्य, सिंचाई, खाद्य वितरण, कृषि एवं पशुपालन विभाग। प्रदेश भर में सभी अस्पताल और स्वास्थ्य सेवाओं से जुड़े लोगों और कार्यों को पूरी तरह लॉकडाउन से छूट दी गई है।

सभी कॉमर्शियल और प्राइवेट संस्थान बंद रहेंगे। सिर्फ फल, सब्जी, अनाज, दूध, मछली आदि के दुकान खुल सकेंगे। हालांकि प्रशासन इनकी होम डिलिवरी की हर संभव व्यवस्था करने का प्रयास करेगा।

सभी बैंक और एटीएम खुले रहेंगे। होटल, रेस्त्रां या ढाबे खुले रहेंगे लेकिन वहां खाने की व्यवस्था लॉकडाउन के दौरान नहीं कर सकते. उन्हें सिर्फ पैकिंग की सर्विसेज देनी होगी। रेल, हवाई सफर को मंजूरी दी गई है। हालांकि आटो टैक्सी पूरे राज्य में संचालित रहेंगे। इसके अलावा जरूरी सेवाओं के लिए ही प्राइवेट गाड़ियों का संचालन हो सकता है। बाकी सभी ट्रांसपोर्ट सर्विस बाधित रहेगी।

बिहार में तेजी से बढ़ रही कोरोना संक्रमितों की संख्या

बता दें कि, बिहार में कोरोना वायरस के मामलों में तेजी से बढ़ोतरी हो रही है। पिछले कुछ दिनों से मरीजों की संख्या हजारों में मिल रही है। आज भी कोरोना के 1432 नए मरीज मिले हैं। बिहार के अपर मुख्य सचिव आमिर सुबहानी सहित कई वीआइपी कोरोना से संक्रमित पाए गए हैं। एक साथ भाजपा के 75 नेताओं की कोरोना की जांच रिपोर्ट पॉजिटिव आई है।

 

Search Article

Your Emotions

    %d bloggers like this: