Coronavirus: बिहार के युवा वैज्ञानिक ने कोरोना वायरस से बचाने वाले छाते का किया आविष्कार

हाइड्रोलिक प्रेशर के सिद्धांत पर आधारित एक खास प्रकार के छाते का आविष्कार

पूरी दुनिया में कोरोना वायरस से लड़ने के लिए रिसर्च किया जा रहा है ताकि इस वायरस को काबू किया जा सके| वैज्ञानिक समाज तरह-तरह के अविष्कार का दावा भी कर रहे हैं| इसमें एक नाम बिहार के वैज्ञानिक का भी जुड़ गया है|

औरंगाबाद जिले के युवा वैज्ञानिक विनीत ने हाइड्रोलिक प्रेशर के सिद्धांत पर आधारित एक खास प्रकार के छाते का आविष्कार किया है, जो कोरोना वायरस के संक्रमण से लोगों को बचाएगा।

जिले के सदर प्रखंड के देवहरा गांव निवासी मनीष प्रजापति के बेटे विनीत के विशेष छाता में सैनिटाइजर लगा हुआ है। जब कोई व्यक्ति छाते को खोलेगा तब अंदर लगे सैनिटाइजर पर दबाव पड़ेगा जो ऊपरी हिस्से को जगह-जगह पर सैनिटाइज कर देगा। इस तरह छाते का उपयोग करने वाला व्यक्ति पूरी तरह से वायरस के संक्रमण से बचा रहेगा।

वैज्ञानिक विनीत ने बताया कि बाजार में एक सामान्य छाते की कीमत 100 से लेकर 300 रुपए के बीच होती है, लेकिन उसके द्वारा बनाए गए ख़ास छाते की कीमत मात्र 200 रुपए होगी। इस ख़ास छाते के द्वारा लोग खुद को कोरोना वायरस के संक्रमण से बचा सकते हैं। इससे पूर्व विनीत ने प्लास्टिक से पेट्रोल बनाकर देश ही बल्कि पूरी दुनिया को चकित कर दिया था।

Source: UNI

Search Article

Your Emotions

    %d bloggers like this: