ऑस्ट्रेलिया-न्यूजीलैंड की प्रतिष्ठित संस्था ने सीतामढ़ी को आई.एस.ओ प्रमाणित जिला का दिया दर्जा

Sitamarahi, ISO Certificate, IAS Dr. Ranjeet Singh, DM, Sitamarhi

सभी जिले को पीछे छोड़ते हुए सीतामढ़ी बिहार का पहला आई.एस.ओ प्रमाणित जिला होने का गौरव प्राप्त किया है| ऑस्ट्रेलिया-न्यूजीलैंड की संस्था इंटरनेशनल एक्रीडेशन फोरम जेएएस-एएनजेड द्वारा यह सर्टिफिकेशन उच्च गुणवत्तापूर्ण कार्य एवम पारदर्शिता को ध्यान में रखकर प्रदान किया जाता है।

डुमरा स्थित समाहरणालय के ऊपर I.S.O प्रमाणित 9001:2015 का बोर्ड लग गया है। बिहार का पहला सरकारी कार्यलय जिसे आईएसओ से नवाजा गया है। जिला पदाधिकारी डॉ. रणजीत कुमार सिंह ने बताया कि नोयडा से आई टीम द्वारा दो दिनों तक कार्यालय का निरीक्षण और कार्यपद्धति, पारदर्शिता, अनुशासन आदि को मानक मानते हुए यह सर्टिफिकेट प्रदान किया गया है। डीएम ने बताया कि बायोमेट्रिक अटेंडेंस, सीसीटीवी, लोक शिकायत पद्धति, डिलीवरी मैकेनिज्म, सिटीजन चार्टर, लैंड रेवेन्यू में कलेक्शन आदि उम्दा कार्यों के आधार पर यह प्रमाण पत्र जारी किया गया है।

ज्ञात हो कि जिला अधिकारी डॉ. रणजीत कुमार सिंह के नाम पहले भी कई वर्ल्ड रिकॉर्ड दर्ज है।

जिला पदाधिकारी डॉ. रणजीत कुमार सिंह द्वारा सीतामढ़ी जिला में बनाये गए वर्ल्ड रिकॉर्ड्स:

1) स्वच्छ भारत मिशन के तहत एक दिन में 1 लाख 10 हज़ार गड्ढा खोदा गया ।
2) 100 घण्टे में 70 हज़ार शौचालय का निर्माण ।
3) एक दिन में स्कूलों में 18 हज़ार छात्र-छात्राओं का नामंकन ।
4) स्वच्छ भारत मिशन के तहत शौचालय निर्माणकर्ताओं के बीच 115 करोड़ का भुगतान ।
5) जिला में शिक्षा के जन आंदोलन के तहत 12 लाख लोगों की विशाल रैली ।

Search Article

Your Emotions