शरद सागर को ‘यंग एलुमनाई अचीवमेंट अवॉर्ड’ से सम्मानित करेगा अमेरिका का टफ्ट्स यूनिवर्सिटी

26 वर्षीय सामाजिक उद्यमी एवं भारत के युवा आइकॉन और बिहार निवासी शरद सागर को अमेरिका के टफ्ट्स यूनिवर्सिटी द्वारा प्रतिष्ठित यंग एलुमनाई अचीवमेंट अवॉर्ड से नवाज़ा जाएगा।

होंगे सबसे युवा विजेता एवं पहले भारतीय

बोस्टन स्थित टफ्ट्स यूनिवर्सिटी द्वारा दिए जाने वाले इस सम्मान के शरद आज तक के सबसे युवा विजेता होंगे। इस सम्मान के लिए शरद को विश्वविद्यालय के दुनिया भर से 30,000 से भी अधिक पूर्व छात्र-छात्राओं में से चुना गया है। यह सम्मान प्रति वर्ष एक व्यक्ति को उनके ख़ास उपलब्धियों एवं नेतृत्व के लिए दिया जाता है। शरद हाल के इतिहास में इस सम्मान को पाने वाले एकमात्र भारतीय हैं। पिछले साल यह सम्मान अमेरिका के लिए ओलिंपिक रजत पदक विजेता जेव्वी स्टोन को दिया गया था। आधिकारिक पुरस्कार विवरण में लिखा है कि “पुरस्कार विजेता विश्वविद्यालय के छात्र-छात्राओं के लिए प्रेरणादायक हैं एवं उनकी उपलब्धियां विश्वविद्यालय के लिए सम्मान एवं गर्व की बात है।”

शरद ने 4 करोड़ की छात्रवृत्ति पर अमेरिका के प्रतिष्ठित टफ्ट्स यूनिवर्सिटी से पढाई पूरी की। मई 2016 में शरद को टफ्ट्स यूनिवर्सिटी के 160 साल के इतिहास में स्नातक भाषण देने वाले पहले भारतीय होने का सम्मान प्राप्त हुआ। उसी साल शरद ने हार्वर्ड यूनिवर्सिटी के मास्टर्स डिग्री के प्रस्ताव को ठुकरा कर भारत लौटकर बच्चों और युवाओं के साथ काम जारी रखने का निर्णय लिया।

पुरस्कार वितरण समारोह

शरद को यह सम्मान 29 मार्च 2018 को बोस्टन स्थित टफ्ट्स यूनिवर्सिटी में एक ख़ास समारोह में दिया जाएगा। इस समारोह में विश्वविद्यालय राष्ट्रपति एन्थोनी मोनैको एवं अन्य प्रसिद्द एलुमनाई एवं अतिथिगण सम्मलित होंगे। पुरस्कार वितरण के पश्चात शरद शरद दुनिया भर से आये विशिष्ट अतिथिगण के मौजूदगी में भाषण देंगे।

शरद सागर ने कहा –

विजेता घोषित किये जाने पर शरद ने कहा –

“खबर मिलने पर मुझे आश्चर्य हुआ क्योंकी यह अवॉर्ड आमतौर पर ग्रेजुएट करने के कई साल बाद दिया जाता है। एक अवार्ड जो ओलिंपिक पदक विजेताओं एवं दुनिया भर के मशहूर लीडर्स एवं उद्यमियों को दिया गया है इसका मुझे मिलना वो भी ग्रेजुएट करने के 18 महीने के अंदर, यह मेरे लिए सम्मान की बात है।”

भारत के युवा आइकॉन

टफ्ट्स यूनिवर्सिटी के इस पुरस्कार के साथ शरद के अंतर्राष्ट्रीय पुरस्कारों एवं सम्मानों की सूची और लम्बी हो गयी है। पिछले ही हफ्ते शरद को इंग्लैंड के शाही परिवार के क्वींस यंग लीडर्स की सूची में शामिल किया गया था। अक्टूबर 2016 में शरद एकमात्र भारतीय थे जिन्हे अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा द्वारा वाइट हाउस आने का आमंत्रण मिला। शरद विश्व के 100 सबसे प्रभावशाली युवा उद्यमियों की सूची में भारत से सबसे ऊपर हैं। शरद फोर्ब्स पत्रिका के 30 अंडर 30 की सूची में मार्क ज़ुकेरबर्ग एवं मलाला यूसफज़ई के साथ शामिल होने वाले बिहार से एकमात्र हैं। दिसंबर 2016 में नोबेल पीस सेण्टर ने शरद को ओस्लो, नॉर्वे में होने वाले नोबेल शान्ति पुरस्कार समारोह में विशेष अतिथि के रूप में आमंत्रित किया और जून 2017 में अखबार दिव्य भास्कर ने शरद को “21वीं शताब्दी के स्वामी विवेकानंद” की उपाधि दी। शरद ने एशिया, अमेरिका और यूरोप में प्रसिद्ध भाषण दिए हैं और ऑनलाइन उनके भाषणों को लाखों लोग द्वारा सुना जाता है।

शरद सागर एक भारतीय युवा आइकॉन, विश्व प्रसिद्द उद्यमी एवं 21वीं शताब्दी के लीडर हैं जिनके शिक्षा एवं सामाजिक सेवा में किये गए काम एक पूरी पीढ़ी को प्रेरणा देती है।

कई यूएन पुरस्कार के विजेता शरद दुनिया भर के सबसे प्रभावशाली नेताओं, संस्थानों, विश्वविद्यालयों, सरकारों एवं अखबारों द्वारा चित्रित किये गए हैं एवं उन्हें संयुक्त राष्ट्र, वाइट हाउस, वर्ल्ड बैंक, हार्वर्ड, आईआईटी एवं आईआईएम जैसे संस्थानों द्वारा आमंत्रित एवं सम्मानित किया गया हैं।

पिछले ही हफ्ते शरद भारत के इतिहास में किसी विश्वविद्यालय दीक्षांत समारोह को मुख्य अतिथि के रूप में सम्बोधित करने वाले सबसे युवा भारतीय बने। शरद सागर ने 9 दिसंबर को गुजरात सरकार द्वारा स्थापित प्रतिष्ठित नवरचना यूनिवर्सिटी के दीक्षांत समारोह को मुख्य अतिथि के तौर पर सम्बोधित किया।

Search Article

Your Emotions

    %d bloggers like this: