बिहार के दो हुनरमंद खिलाड़ियों का हुआ दिलीप ट्रॉफी के लिए चयन

बिहार के दो हुनरमंद खिलाड़ियों को उनके शानदार खेल का तोहफा एक बार फिर मिला है साथ ही हम बिहारवासियों को एक बार फिर से गर्व करने का। 29 नवंबर से कानपुर और लखनऊ में शुरू होने वाले दिलीप ट्राफी में नवादा के इशान किशन को सुरेश रैना की कफ्तानी वाली टीम इंडिया ब्लू तथा मुजफ्फरपुर के करिश्माई स्पीनर शाहवाज़ नदीम को पार्थिव पटेल की अगुवाई वाली इंडिया ग्रीन टीम में शामिल किया गया है।

जाहिर है दिलीप ट्राफी में चयन इन दोनों खिलाड़ियों के लिए कई मायने में अहम होगा, दोंनों के लिए खुद को साबित करने के लिए ये एक बड़ा अवसर है अगर यहाँ इन्होंने शानदार खेल दिखाया तो चयनकर्ताओं का राह भी आसान हो सकती है क्योंकि आगामी विश्वकप के लिए चयनकर्ता ऐसे भी नये खिलाड़ियों के तलाश में हैं।

हाल ही में बिहार के इन दो खिलाड़ियों को दक्षिण अफ्रीका की धरती पर अभ्यास मैच खेलने के लिए चयन हुआ था जिसमें बिहार के शाहबाज ने काफी उमदा प्रदर्शन किया था।

दक्षिण अफ्रीका दौरे पर शाहबाज ने किया था कमाल

घरेलू क्रिकेट में झारखंड के लिए और आइपीएल में दिल्ली डेयरडेविल्स के लिए खेलते हुए कई बार सुर्खियों में रहने वाला ये स्पिनर दक्षिण अफ्रीका की धरती पर कमाल किया है। दक्षिण अफ्रीका की पिचों पर स्पिनर्स हमेशा से संघर्ष करते आए हैं और ऐसी स्थिति में मेजबान टीम के खिलाफ चार विकेट लेना इस खिलाड़ी को प्रतिभा को सामने रखता है।

आपको बता दें कि नदीम ने प्रथम श्रेणी क्रिकेट में लंबा संघर्ष किया है। उन्होंने झारखंड के लिए अपना पहला प्रथम श्रेणी क्रिकेट मैच 2004 में खेला था और पिछले 13 सालों से वो लगातार घरेलू क्रिकेट में अपना दम दिखा रहे हैं। पिछले दो रणजी सीजन में वो देश के सर्वश्रेष्ठ स्पिनर साबित हुए हैं।

पिछले रणजी सीजन में शाहबाज 10 मैचों में 56 विकेट लेकर टॉप पर रहे थे।  नदीम ने अब तक 85 प्रथम श्रेणी क्रिकेट मैचों में 315 विकेट और 74 लिस्ट-ए क्रिकेट मैचों में 102 विकेट लिए हैं, हालांकि इसके बावजूद आज तक उन्हें राष्ट्रीय टीम से खेलने का मौका नहीं मिला है। नदीम 2011 से लगातार हर आइपीएल सीजन में भी खेलते नजर आए हैं और उन्होंने आइपीएल करियर के 55 मैचों में 37 विकेट लिए हैं।

पहले भी लोहा मनवा चूके हैं इशान

आईपीएल में गुजरात लायन्स की टीम की ओर से खेलते हुए अपनी प्रतिभा का लोहा मनवा चूके बिहार के इशान को दक्षिण अफ्रीका के दौरे पर बल्ले से अच्छा करने के लिए कुछ खास मौका नहीं मिला हालंकि विकेटकीपर के तौर पर उन्होंने काफी अच्छा कार्य किया।

रणजी ट्रॉफी के इस सत्र में वह सर्वाधिक रन बनाने वाले बल्लेबाजों की सूची में 10वें स्थान पर थे। उन्होंने 10 मैचों में 57.07 की औसत से 799 रन बनाए थे। इस दौरान उनका स्ट्राइक रेट 83.92 रहा जो चोटी का 20 बल्लेबाजों में तीसरा सबसे तेज स्ट्राइक रेट था।

मालूम हो कि इशान किशन पिछले साल अंडर-19 विश्वकप में भारतीय टीम की कप्तानी कर चुके हैं। और उनकी शानदार कफ्तानी के बदौलत भारतीय अंडर 19 टीम विश्व कप में फाइनल तक का सफर की।

Search Article

Your Emotions

    %d bloggers like this: