खुले में शौच से मुक्ति की दिशा में पूरे बिहार में इस जिला का सब लोहा मान रहे हैं.

खगड़िया ( मुकेश कुमार मिश्र ): खुले में शौच से मुक्ति की दिशा में पूरे बिहार में खगड़िया का सब लोहा मान रहे हैं. इतना ही नहीं अब दूसरे जिले के अधिकारी भी खगड़िया में खुले में शौच से मुक्ति का पाठ पढ़ने के लिए आ रहे हैं. मधेपुरा डीएम ने खगड़िया डीएम को पत्र भेज कर जिले के तीन बीडीओ को खुले में शौच से मुक्ति का गुर सिखाने का अनुरोध किया है.

 

ज्ञात हो कि बिहार में सबसे पहले खुले में शौचमुक्त पंचायत बनने का गौरव गोगरी प्रखंड के रामपुर पंचायत को मिला है. इसके बाद मानसी भी पूरे सूबे में खुले में शौचमुक्त बनने वाला पहला प्रखंड बन गया है. दो अक्तूबर 2017 तक पूरे खगड़िया को खुले में शौचमुक्त बनाने की दिशा में युद्धस्तर पर काम जारी है. गुरुवार को बेलदौर के तेलिहार पंचायत भी खुले में शौच के कलंक से मुक्त हो गया।

 

मधेपुरा डीएम ने खगड़िया डीएम को पत्र लिखकर अपने जिले के तीन बीडीओ को खुले में शौच से मुक्ति का पाठ पढ़ाने का अनुरोध किया है. मधेपुरा जिले के मुरलीगंज बीडीओ अनुरंजन कुमार, चौसा बीडीओ मिथलेश बिहारी वर्मा, पुरैनी बीडीओ रीना कुमारी दो दिनों तक खगड़िया में रहकर खुले में शौच मुक्त बनने का गुर सिखेंगे. 13 व 14 मई मधेपुरा जिले के तीन प्रखंडों के बीडीओ खगड़िया के अधिकारी से खुले में शौच मुक्त बनने की बारिकियों का अध्ययन करेंगे।

 

ताकि मधेपुरा जिले को भी खुले में शौच मुक्त बनाने का मिशन पूरा किया जा सके

मधेपुरा डीएम ने खगड़िया का माना लोहा : खगड़िया डीएम को भेजे पत्र में मधेपुरा डीएम ने भी माना है कि लोहिया स्वच्छ बिहार अभियान के तहत पंचायतों को खुले में शौचमुक्त बनाने की दिशा में पीछे हैं, जबकि खगड़िया का लोहा मानते हुए कहा है कि मधेपुरा व खगड़िया का सामाजिक-आर्थिक-परिस्थितियां लगभग समान रूप से रहने के बावजूद मधेपुरा जिले के पंचायतों को खुले में खुले में शौचमुक्त करने की प्रगति अच्छी नहीं है

ऐसे में खगड़िया से खुले में शौचमुक्त बनने के टिप्स लेने के लिए मधेपुरा जिले के तीन बीडीओ को भेजा जा रहा है. तीनों बीडीओ दो दिनों तक खुले में शौचमुक्त पंचायतों का भ्रमण करने के साथ अधिकारियों के साथ रहकर लोहिया स्वच्छ बिहार अभियान के क्रियान्वयन का अध्ययन करेंगे. मधेपुरा डीएम ने खगड़िया डीएम से सहयोग का अनुरोध किया। हैं।

 

मुरलीगंज बीडीओ अनुरंजन कुमार

 

चौसा बीडीओ मिथलेश बिहारी वर्मा

 

पुरैनी बीडीओ रीना कुमारी

 

खगड़िया : खुले में शौचमुक्ति पर एक नजर

 

कुल पंचायत 129

 

कुल प्रखंड सात

 

खुले में शौचमुक्त पंचायत 32

 

अंतिम चरण वाले पंचायत 97

 

क्या कहते हैं खगडिया जिला पदाधिकारी जय सिंह 

खुले में शौचमुक्ति को मिशन के रूप में लिया गया है. दो अक्तूबर 2017 तक पूरे खगड़िया को खुले में शौचमुक्त बनाने का लक्ष्य लेकर काम चल रहा है. जनप्रतिनिधियों व आमलोगों से अपील है कि खगड़िया को खुले में शौचमुक्त बनाने के लिए आगे आकर सहयोग करें. ताकि पूरे बिहार में सबसे पहले खगड़िया इस कलंक से मुक्त होने वाला जिला बन सके.

Search Article

Your Emotions

    %d bloggers like this: