बिहार का प्रसिद्ध नालंदा विश्वविद्यालय ने जापान से इस बात के लिए किया समझौता

कभी अपने शिक्षा, शिक्षक और भव्यता के लिए विश्वभर में ख्याति प्राप्त बिहार का नालंदा विश्विद्यालय एक बार फिर अपने खोये गौरवशाली पहचान को पाने की राह पर चल चुका है। हाल ही में यूनिवर्सिटी ऑफ नालंदा ने अकादमिक सहयोग के लिए जापान के कानाजावा विश्वविद्यालय के साथ एक समझौता ज्ञापन कर हस्ताक्षर किया। समझौता ज्ञापन के अनुसार दोनों विश्वविद्यालय एक दूसरे के विकास में सहयोग करेंगे।

 

यूनिवर्सिटी की कम्यूनिकेशन डायरेक्टर स्मिता पोलाइट ने बताया कि जापान के कानाजावा विश्वविद्यालय के भारतीय बौद्ध कला तथा तुलनात्मक संस्कृति के प्रमुख प्रोफेसर मोरी मासाहिदे ने नालंदा विश्वविद्यालय के प्रभारी कुलपति प्रोफेसर पंकज मोहन के साथ गुरुवार को हस्ताक्षर-युक्त समझौता किया। उन्होंने बताया कि दोनों विश्वविद्यालय संकाय सदस्यों और अनुसंधान के सदस्यों का आदान-प्रदान करेंगे। छात्रों का आदान-प्रदान करेंगे। शैक्षणिक सामग्रियों, प्रकाशनों और सूचनाओं का आदान-प्रदान भी करेंगे। इसके अलावा संयुक्त अनुसंधान परियोजनाओं और संगोष्ठी के संगठन का आयोजन के साथ दो संस्थाओं के बीच अकादमिक और शैक्षणिक आदान-प्रदान के विकास में योगदान करने वाली अन्य गतिविधियां भी की जायेगी। इससे दोनों को विकास में सहयोग मिलेगा।

 

इस मौके पर जापान के कानाजावा विश्वविद्यालय के इंटरनेशनल एक्सचेंज एडवाइजर और होकूरिक जापान-इंडिया क्लब की प्रमुख मकसूदा शिओतानि, कार्यकारी रजिस्ट्रार के चन्द्रमूर्ति, स्मिता पोलाइट सहित अन्य मौजूद थे।

कानाजावा विश्वविद्यालय को जापानी शिक्षा मंत्रालय द्वारा सुपर ग्लोबल यूनिवर्सिटी का दर्जा दिया गया है।

वहीं जापान के कानाजावा विश्वविद्यालय से आये प्रोफेसर मोरी मासाहिदे ने कहा कि कानाजावा विश्वविद्यालय को जापानी शिक्षा मंत्रालय द्वारा सुपर ग्लोबल यूनिवर्सिटी का दर्जा दिया गया है। नालंदा विश्वविद्यालय इस दृष्टि और लक्ष्य को साझा करता है। यह समझौता ज्ञापन के तहत दोनों संस्थानों के साथ एक स्थायी भागीदारी के लिए रास्ता खुलेगा। इससे और भी तेजी से विकास होगा। उन्होंने बताया कि कानाजावा विश्वविद्यालय इशिकावा प्रीफेक्चर की राजधानी में स्थित है। इसके दो मुख्य परिसर हैं जिनमें काकुमा और टैकरामाची शामिल हैं। यह विवि स्नातक और स्नातकोत्तर पाठ्यक्रम प्रदान करता है। इसके तहत तीन कॉलेज और 16 स्कूल शामिल हैं। इस विश्वविद्यालय में 11 हजार छात्र हैं जिनमें 350 दूसरे देश के छात्र भी शामिल हैं।

Search Article

Your Emotions

    %d bloggers like this: