राजनीति: BJP की जीत पर मुस्कुराते हुए नीतीश बोले- विपक्ष को महंगा पड़ा नोटबंदी का विरोध

उत्तर प्रदेश सहित पांच राज्यों के विधान सभा चुनाव के परिणाम पर बिहार के लोगों की भी नजरें टिकीं थीं। खासकर यूपी के चुनाव परिणाम का असर बिहार की राजनीति पर पड़ना तय दिख रहा है। ऐसे में बिहार की महागठबंधन सरकार के मुखिया मुख्यमंत्री नीतीश कुमार तथा महागठबंधन के सबसे बड़े घटक दल राज के सुप्रीमो लालू प्रसाद की प्रतिक्रियाएं मायने रखती हैं।

चुनाव परिणाम पर प्रतिक्रिया पूछने पर नीतीश कुमार पहले मुसकुराए, फिर बाद में यूपी में भाजपा विरोधियों की हार को नोटबंदी के विरोध से जोड़ा। उन्होंने इस जीत के लिए भाजपा को बधाई दी। उधर, लालू प्रसाद ने कहा कि इस जीत के लिए भाजपा को क्या बधाई देना, उन्होंने तो मोदी के पीएम बनने पर भी बधाई नहीं दी थी।

 

नीतीश कुमार ने यूपी व उत्तराखंड में जीत पर भाजपा को अपनी बधाई दी। नीतीश ने पंजाब में कांग्रेस पार्टी की बड़ी पर कांग्रेस को भी बधाई दी। उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी का गोवा एवं मणिपुर में सबसे बड़ी पार्टी के रूप में उभरना सराहनीय है।

नीतीश कुमार ने कहा है कि उत्तर प्रदेश में भाजपा विरोधी दलों की हार की एक प्रमुख वजह नोटबंदी का कड़ा विरोध भी है। नोटबंदी का इतना कड़ा विरोध करने की आवश्यकता नहीं थी। इस फैसले से गरीब लोगों के मन में संतोष का भाव उत्पन्न हुआ था। गरीबों को लग रहा था कि इससे अमीर लोगों को चोट पहुंची है। पर कई पार्टियों ने इस तथ्य को नजरअंदाज कर दिया।

नीतीश ने कहा कि पिछड़े वर्गों के बड़े तबके ने यूपी चुनाव में भाजपा को समर्थन दिया। गैर भाजपा दलों ने इन्हें जोडऩे का प्रयास नहीं किया। वैसे भी बिहार की तर्ज पर यूपी में महागठबंधन नहीं हो पाया।

Search Article

Your Emotions

    %d bloggers like this: