बिहार के शहरों में हर मकान का होगा यूनिक पहचान नम्बर।

बिहार राज्य के प्रत्येक शहरों में हर मकान का यूनिक बिल्डिंग पहचान नम्बर होगा।

इस नम्बर में उस मकान के बारे में हर तरह की जानकारी दर्ज होगी। यदि कोई उसे खरीदना चाहता है, तो इस नम्बर के जरिए उसके बारे में पूरी जानकारी हासिल कर सकता है।

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने सोमवार को ‘लोक संवाद में इस बाबत पटना के रश्मिकांत सिन्हा के सुझाव को प्रधान नगर सचिव चैतन्य प्रसाद को अमल में लाने का निर्देश दिया। उन्होंने कहा कि जो भवन स्वीकृत हैं, विभाग उनकी सूचना अपनी वेबसाइट पर डाल दे। इससे लोगों को पता चलेगा कि इसमें सही-गलत क्या है। जान सकेंगे कि निर्माण वैध है या नहीं।

डाउनलोड करे आपन बिहार app

चुनिंदा गांव बनेंगे पर्यटन मॉडल सीवान के नरोत्तम कुमार ने कुछ जिलों के खास गांवों को बतौर मॉडल सांस्कृतिक पर्यटन के रूप में विकसित करने का सुझाव दिया। पर्यटकों को आकर्षित करने के लिए संबंधित गांव की खासियत वेबसाइट पर डाली जाए। मुख्यमंत्री ने प्रधान पर्यटन सचिव हरजोत कौर से नरोत्तम का सुझाव सुनने और सहयोग करने का निर्देश दिया। देश आइडियावान लोगों से भरा है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि यह देश आइडियावान लोगों से भरा है, लेकिन पहले वे खुद पहल करें, तो लोगों को प्रेरणा मिलेगी। कहा कि किसी मलीन बस्ती में यदि बुनियादी सुविधाओं को लेकर अधिक समस्याएं हों तो उनको किसी बेहतर जगह पर ले जाने पर भी विचार किया जाना चाहिए। पटना के रूपेश के यहां के आशियानानगर स्लम बस्ती को लेकर दिए गए सुझाव पर मुख्यमंत्री ने कहा कि उपेक्षित लोगों के लिए व्यावहारिक दृष्टिकोण अपनाया जाए।

इन लोगों ने भी दिए सुझाव नालंदा से राजेन्द्र प्रसाद सिंह, पटना से शाजिया कैसर, कैमूर से राम सुरेश शर्मा और पटना से कुमार चन्द्र प्रकाश एवं रवि भूषण प्रसाद सिन्हा, अनुभव राज एवं शिवम प्रकाश ने भी अपने सुझाव दिए। साथ ही मौजूद रहे कई मंत्रियों व् अधिकारियों ने भी अपने अपने सुझाव दिए।

 

Search Article

Your Emotions

    %d bloggers like this: