wp-1479090611339.jpg
खबरें बिहार की

बिहार में पहली बार अंतर्राष्ट्रीय कला प्रदर्शनी का हो रहा है आयोजन,भाग लेंगे 30 देशों के सुप्रसिद्ध कलाकार

​बिहार के प्रसिद्ध पर्यटन स्थल बोधगया में बोधगया बोधगया बिनाले का आयोजन बिहार की सक्रिय सांस्‍कृतिक संस्‍था कैनवास के द्वारा बिहार राज्‍य फिल्‍म विकास निगम, बिहार राज्‍य पर्यटन विकास निगम,बेवरेज कॉरपोरेशन, पुलिस निर्माण निगम, ग्रामीण स्‍ने‍ह फाउंडेशन, ICCR, तक्षशिला एडुकेशन सोसायटी, डी पी एस गया आदि संस्‍थाओं के सहयोग से किया जा रहा है। यह आयोजन 17 से 24 दिसंबर तक बोधगया स्थित सुजाता विहार परिसर मेंं हाेगा। ये जानकारी आज पटना के ए एन सिन्‍हा इंस्‍टीट्यूट में आयोजित संवाददाता सम्‍मेलन में बिहार राज्‍य फिल्‍म विकास निगम के एमडी और बोधगया विनाले के संयोजक गंगा कुमार ने दी।


बोधगया बिनाले-2016 में अंतर्राष्ट्रीय कला प्रदर्शनी का आयोजन किया जा रहा है। इस प्रदर्शनी में राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय ख्यातिप्राप्त कलाकार, मूर्तिकार, शिल्पकार, छायाकार और अन्य चाक्षुष कलाओं की महान हस्तियों की कृतियां प्रदर्शित की जाएंगी। इसमें करीब 30 देशों के कलाकार भाग लेंगे। सात दिनों तक चलने वाले ‘बोधगया बिनाले 2016’ 17 दिसंबर से शुरू होगा। कैनवास कला संस्था के बैनर तले आयोजित इस बिनाले का उद्देश्य कला के विविध आयामों और उसके जीवंतता को आमलोगों तक पहुंचाना है।
बोधगया बिनाले-2016 में इकठ्ठा होंगे 30 देशों के कलाकार 
बिनाले आयोजन समिति के संरक्षक चंचल कुमार ने रविवार को संवाददाताओं को बताया कि बोधगया बिनाले एक परपंपरागत और समसामयिक कला का अनूठा समायोजन है, इसी के मद्देनजर इस बिनाले का मूल विषय ‘समकालीन समय में शांति की तात्कालिकता’ है।
बोधगया बिनाले-2016 एक क्युरेटेड अंतर्राष्ट्रीय कला प्रदर्शनी होगी जो न केवल भारतीय कला जगत में, बल्कि एशिया में महत्वपूर्ण हस्तक्षेप होगा। बिनाले में देश के प्रख्यात कलाकारों के द्वारा बनाई गई फ़िल्में  वीडियो तथा प्रख्यात फिल्मकारों के द्वारा चाक्षुष कलाकारों और कला विधाओं पर बनाई गई फिल्में भी दिखाई जाएंगी।
समकालीन कला विधाओं की समझदारी विकसित करने के उद्देश्य से आर्ट वॉक भी बिनाले स्थल पर किया जाएगा, जिसके माध्यम से देश के कला एवं इतिहास की जानकारी दी जाएगी।
कुमार ने कहा कि बोधगया बिनाले-2016 में विवान सुंदरम, बालन नांबियार, वीर मुंशी, गौतम घोष, हिम्मत शाह, पी.आर. दरोज, धीरज चौधरी, अनिल रिसाल सिंह, प्रशांत पंजियार, रिचर्ड कॉक्स (यूके), सबरीना ओस्बोर्न (यूके), माइकल स्नाइडर (ऑस्ट्रिया), रुक्कैया सुल्ताना (बांग्लादेश) आदि नामचीन कलाकार हिस्सा लेंगे।

अपनी फैमिली की लाइफस्टाइल पर कभी कंप्रोमाइज मत करिए
 वर्ल्ड विजन इंडिया के साथ मदद करिए महज 800 रुपए हर महीने

 प्री एप्रूव्ड लोन लें, यहां तक कि प्रॉपर्टी सिलेक्ट करने से पहले ही

बिनाले समिति के कार्यकारी अध्यक्ष गंगा कुमार ने कहा कि इस बिनाले में बांग्लादेश, नेपाल, भूटान, श्रीलंका, ऑस्ट्रिया, क्यूबा, मिस्र, फिनलैंड, स्पेन, तुर्की, संयुक्त राज्य अमेरिका, इंग्लैंड, कोरिया, नॉर्वे, थाईलैंड, जापान सहित करीब 30 देशों के कलाकार भाग लेंगे।
बोधगया बिनाले-2016 के आर्टिस्टिक डायरेक्टर विनय कुमार ने बिनाले की संरचना के बारे में बताते हुए कहा कि इस बिनाले के जरिए समकालीन कला में एक नए विमर्श की शुरुआत होगी। इसमें प्रदर्शित कलाकृतियों में छायाचित्र (पेंटिंग्स), मूर्तिशिल्प, छापाकला, इंस्टालेशन, विडियो आर्ट, डिजिटल आर्ट, परफॉरमेंस आर्ट, पब्लिक आर्ट आदि होंगी।
इस अवसर पर विभिन्न देशों के राजनयिक भी उपस्थित रहेंगे। कलाकृतियां के साथ समकालीन कला पर विमर्श के लिए प्रख्यात कला समीक्षकों का व्याख्यान भी होगा।
आईसीसीआर के क्षेत्रीय निदेशक शत्रुघ्न सिन्हा ने बताया कि बोधगया बिनाले-2016 के आयोजन में परिषद की भी सहभागिता होगी और स्थानीय कलाकारों का ख्यातिप्राप्त कलाकारों से एक समन्वय बनेगा, जो इस राज्य की समकालीन कला में एक नया आयाम जोड़ेगा।

Facebook Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Time limit is exhausted. Please reload CAPTCHA.