पकिस्तान में घुसकर एयर स्ट्राइक करने वाले भारतीय एयर फाॅर्स के प्रमुख हैं ‘बिहारी’

Air chief marshal, indian air force, air strike,

बिहारियों के क़ाबलियत, मेहनत, क्षमता और पराक्रम के बारे में सब जानते हैं| बिहार के लोग अपने इन विशेषताओं से सिर्फ अपने जीवन में क्रितिमान स्थापित नहीं करते, बल्कि मौका मिलने पर राष्ट्र निर्माण में भी योगदान देते हैं|

हाल ही में हुए पुलवामा आतंकी हमला में देश के कई जवान शहीद हो गये| उसमे से 2 जवान बिहार से भी थे| सीमा पर से कराये गये इस हमले पर देश में जबरदस्त आक्रोश था| पूरा देश अपने वीर जवान के शहादत का बदला लेना चाहता था| भारतीय वायुसेना ने कमान संभाली और पकिस्तान में घुसकर बालाकोट में मौजूद आतंकी शिविर को तवाह कर दिया| भारतीय वायुसेना ने पहली बार इस तरह की कोई करवाई की है|

 वायुसेना के इस पराक्रम पर पूरा देश गर्व कर रहा है| इस समय वायुसेना के चीफ मार्शल सरदार बीरेंद्र सिंह धनोआ हैं| खास बात यह है कि एयर चीफ मार्शल सरदार बीरेंद्र सिंह धनोआ बिहारी हैं| उनका जन्म अविभाजित बिहार के देवघर में हुआ था| 

उन्होंने पिछले साल तख्त हरिमंदिर साहिब के दर्शन के समय भी यह कहा था कि वे खुद बिहारी मानते हैं| एयर चीफ मार्शल सरदार बीरेंद्र सिंह धनोआ 22 जुलाई 2018 को पटना तख्त हरिमंदिर साहिब दर्शन करने आए थे। उन्होंने कहा था कि मुझे बहुत खुशी है कि दशमेश गुरु की जन्मस्थली में 20 वर्ष बाद मत्था टेक गुरुघर का आशीष लेने का मौका मिल रहा है। दशमेश गुरु की जन्मस्थली में मत्था टेक मुझे नई ऊर्जा मिली है। दशमेश गुरु के आशीष से मैं देश का नाम रोशन करूंगा।

दरअसल, वायुसेना प्रमुख बीएस धनोआ के पिता सरायन सिंह धनोआ आइएएस अफसर थे और 1964 से 67 तक बिहार में पदस्थापित रहे। इस दौरान वह रांची और पटना में रहे। उनकी शिक्षा-दीक्षा संत जेवियर स्कूल से हुई। वायु सेना प्रमुख के दादा कैप्टन संत सिंह भी ब्रिटिश इंडियन आर्मी के ऑफिसर थे और द्वितीय विश्व युद्ध में शामिल हुए थे।

Search Article

Your Emotions