यूपी के नए डीजीपी के रेस में ये तीनों बिहारी पुलिस अधिकारी सबसे आगे

बिहारी लोग सिर्फ देश ही में नहीं बल्कि पूरी दुनिया में फैलें है और जहाँ भी है अपने मेहनत और क़ाबलियत के लिए जाने जाते हैं| सिविल सर्विस से लेकर पुलिस सर्विस में बिहारियों का बोलबाला है| देश की पूरी व्यवस्था ज्यादातर बिहारी कंधों पर ही टिक्की है| केंद्र हो या कोई राज्य प्रशासन, सभी में बिहारी अधिकारी प्रमुख जिम्मेदारी संभाले हुए हैं इसीलिए तो बिहार को आईएएस और आईपीएस की फैक्ट्री कहा जाता है|

देश के सबसे बड़े आवादी वाले राज्य उत्तर प्रदेश के डीजीपी श्री सुलखान सिंह 30 सितंबर को रिटायर हो रहे हैं, डीजीपी की रेस की चर्चा में ये तीन नाम आगे चल रहे हैं और आपको यह जन गर्व होगा की ये तीनों पुलिस अफसर बिहार से ही सम्बन्ध रखते हैं|, आईए तफ्तीश से बताते है इन तीन लोगो के बारे में :-

1) रजनीकांत मिश्रा

रजनीकांत मिश्रा

अभी बीएसएफ में एडीजी हैं. वे 1984 बैच के आईपीएस अधिकारी हैं. इसके अलावा सीबीआई में भी लंबे समय तक काम कर चुके हैं. बिहार के रोहतास जिले के बिक्रमगंज प्रखंड क्षेत्र के मोरौना गांव के मूल निवासी रहे है डीजीपी की रेस में फिलहाल ये सबसे आगे है । रजनीकांत मिश्रा चार भाई और एक बहन है। अपने भाई बहनों में तीसरे स्थान पर है। इनकी शिक्षा-दीक्षा पटना में हुई है और इनके पिता पटना के साइंस कालेज में प्रोफसर थे। इनके बड़े भाई कांग्रेस के टिकट पर 1984 के दशक में गोपालगंज से चुनाव लड़ चुके है ।

2) ओम प्रकाश सिंह

अभी सीआईएसएफ के डीजी हैं 1983 बैच के यूपी कैडर के आईपीएस अधिकारी ओम प्रकाश सिंह। ओपी सिंह को कानून,सुरक्षा,खूफिया और अपराध की रोकथाम तथा प्रबंधन में व्यापक अनुभव रहा है।श्री सिंह ने अब तक भारत सरकार के विभिन्न संस्थाओं जैसे पीएम सिक्योरिटी,सीआरपीएफ,और सीआईएसएफ में उच्च पदों पर अपनी सेवाऐं दे चुके हैं।

ओम प्रकाश सिंह

एनडीआरएफ ने इनके. नेतृत्व में प्राकृतिक आपदाओं के समय बहादुरी और डटकर काम किया है जिससे लाखों लोगों की जान बची है। चाहे वो जम्मू और कश्मीर की बाढ हो,या नेपाल का प्रलयंकारी भूकंप,ओपी सिंह के नेतृत्व में युद्ध स्तर पर किये गए एनडीआरएफ के कार्यों की सराहना नेपाल की सरकार और यूनाइटेड नेशन ने भी की है। बिहार के गया में उनका बचपन बीता है ।

3) भावेश कुमार सिंह

भावेश कुमार Singh

अभी इंटेलिजेंस के डीजी हैं गोरखपुर के आईजी भी रह चुके हैं और योगी के करीबी माने जाते हैं, वे 1987 बैच के आईपीएस अधिकारी हैं और बिहार के सहरसा में उनका बचपन बीता है ।

पाठको को ये भी बताना चाहेंगे की वर्तमान डीजीपी श्री सुलखान सिंह से पहले उत्तर प्रदेश के डीजीपी रहे श्री जावीद अहमद भी बिहार के ही थे।

Search Article

Your Emotions

    %d bloggers like this: