बाढ़ से बेहाल बिहार की मदद के लिए बिहार की बेटी और अभिनेत्री नीतू चंद्रा ने लोगोंं से की अपील


पडोसी देश नेपाल और बिहार में लगातार हुई भारी बारिश की वजह से आई बाढ़ से 37 और लोगों की मौत हो गई है. इसके साथ ही अब बिहार में बाढ़ की वजह से मरने वालों की संख्या बढ़कर 341 हो गयी है. साथ ही इस बाढ़ से 18 जिलों की एक करोड 46 लाख 19 हजार आबादी प्रभावित है.

सरकार के साथ-साथ समाजसेवी और आम जन भी बाढ़ प्रभावित लोगों की हर संभव मदद कर रहे हैं. इसके साथ ही जो बिहारी बिहार से दूर बैठे हैं वह भी अपने राज्य में आये बाढ़ की चिंता कर रहे हैं और लोगों से मदद की अपील कर रहे हैं.

बिहार कि बेटी और अभिनेत्री नाम नितू चंद्रा ने बाढ़ से प्रभावित लोगों को मदद करने की अपील की है

साल 2005 में आई फिल्म ‘गरम मसाला’ से बॉलीवुड में क़दम रखने वाली अभिनेत्री नीतू चंद्रा भी बिहार में आई बाढ़ से प्रभावित लोगों की मदद करने को कह रही हैं. उन्होंने ट्विटर पर एक वीडियो शेयर किया. अपने 20 सेकंड के इस वीडियो में नीतू चंद्रा ने कहा है कि ‘नमस्कार दोस्तों आज हिंदुस्तान का बहुत इम्पोर्टेन्ट हिस्सा बिहार बहुत बड़ी दुविधा से गुजर रहा है. बाढ़ के कारण लोगों की हालत बहुत खराब है. आप सब से दरख्वास्त है कि प्लीज़ आयें और मदद करें, आज बिहार आप सबको पुकार रहा है.’

 

बता दें कि नीतू चंद्रा बिहार में पली बढ़ी हैं और इनका ताल्लुक बिहार की राजधानी पटना से है.  नीतू चंद्रा की गिनती बॉलीवुड की हॉट अभिनेत्रियों में होती है. इन्होंने कम समय में कम फ़िल्में करने के बावजूद बॉलीवुड में अपनी पहचान बनाई हुई है.
मनोज बाजपेयी भी कर चूके हैं अपील

गौरतलब है कि इससे पहले अभिनेता मनोज बाजपेयी भी बिहार में बाढ़ प्रभावित लोगों के मदद की अपील की. मनोज बाजपेयी चमपरण जिला से हैं जो सबसे ज्यादा बाढ़ से प्रभावित है. अभिनेता आमिर खान ने भी हाल ही में बिहार के लिए मदद की अपील की थी.
बिहार का 18 जिला है बाढ़ से प्रभावित

बता दें कि बाढ़ प्रभावित प्रदेश के 18 जिलों किशनगंज, अररिया, पूर्णिया, कटिहार, पूर्वी चंपारण, पश्चिमी चंपारण, दरभंगा, मधुबनी, मुजफ्फरपुर, सीतामढी, शिवहर, समस्तीपुर, गोपालगंज, सारण, सुपौल, मधेपुरा, सहरसा और खगडिया प्रभावित हुए. अररिया में 71 लोग, सीतामढी में 34, पश्चिमी चंपारण में 29, कटिहार में 26, मधुबनी में 22, पूर्वी चंपारण एवं दरभंगा में 19—19, मधेपुरा में 15, सुपौल में 13, किशनगंज में 11, पूर्णिया एवं गोपालगंज में 9—9, मुजफ्फरपुर में 7, खगडिया और सारण में 6—6 और शिवहर एवं सहरसा में 4—4 व्यक्ति की मौत हुई है.

एनडीआरएफ की 28 टीमों के 1152 जवान बचाव एवं राहत कार्य में जुटी हुई हैं
एनडीआरएफ की 28 टीमों के 1152 जवानों और 118 वोट के साथ, एसडीआरएफ की 16 टीम 446 जवानों और 92 वोट के साथ और सेना की 7 कालम 630 जवानों और 70 बोट के साथ बचाव एवं राहत कार्य में जुटी हुई हैं.
राज्य सरकार के द्वारा बाढ़ में घिरे लोगों को सुरक्षित निकाले जाने का कार्य युद्ध स्तर पर किया जा रहा है. अब तक 734512 लोगों को बाढ़ प्रभावित इलाके से सुरक्षित स्थान पर पहुंचाया गया है और 1346 राहत शिविरों में 327156 व्यक्ति शरण लिए हुए हैं.
बाढ राहत शिविर में नहीं रहने वालों के लिए 1608 सामुदायिक रसोईघर चलाए जा रहे हैं जिसमें 452511 लोगों को भोजन कराया जा रहा है.

Search Article

Your Emotions

    %d bloggers like this: