राज्यपाल ने नहीं दिया तेजस्वी को सरकार बनाने का मौका, नीतीश कुमार आज सुबह 10 बजे लेंगे मुख्यमंत्री का शपथ

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने इस्तीफे के बाद 2014 के लोकसभा चुनावों के बाद बना महागठबंधन टूट गया. बिहार का घटनाक्रम बहुत तेजी से बदल रहा है. बीजेपी ने नई सरकार बनाने के लिए जेडीयू को समर्थन देने का ऐलान किया. बीजेपी नेता सुशील मोदी और नीतीश कुमार ने गवर्नर केसरीनाथ त्रिपाठी से मिले. नीतीश कुमार और सुशील मोदी आज सुबह 10 बजे शपथ ग्रहण करेंगे. नई सरकार के बाकी मंत्री बहुमत परीक्षण के बाद शपथ लेंगे.

 

 

वहीं, तेजस्वी यादव ने गवर्नर के फैसले पर सवाल उठाए. एक ट्वीट के जरिये उन्होंने शपथ ग्रहण का समय बदले जाने को लेकर आपत्ति जाहिर की. तेजस्वी ने लिखा, राज्यपाल महोदय रातों रात फैसला क्यों बदल रहे है?

 

तेजस्वी यादव ने गवर्नर के फैसले पर सवाल उठाए

तेजस्वी ने राजभवन तक मार्च किया और राज्यपाल से मिले लेकिन उन्हें सरकार बनाने का दावा पेश करने का मौका उन्होंने नहीं दिया. राज्यपाल से मुलाकात के बाद मीडिया से चर्चा करते हुए तेजस्वी ने बताया कि राज्यपाल ने कहा नीतीश को शपथग्रहण का समय दिया जा चुका है. इसलिए उस फैसले को वापस नहीं लिया जा सकता.

 

उन्होंने कहा कि हम लोग कोर्ट भी जाएंगे. आरजेडी को बुलाना चाहिए था जो कि नहीं बुलाया. हमारा दायित्व बनता था कि हम दावा पेश करें. तेजस्वी यादव गवर्नर से मिले. आरजेडी, कांग्रेस, माले और निर्दलीय विधायक हमारे साथ हैं. सबसे बड़ी पार्टी को बुलाया जाना चाहिए था लेकिन ऐसा नहीं किया गया. पूरा घटना सुनियोजित था. तानाशाह की तरह लोकतंत्र की हत्या करने का काम किया है. नीतीश कुमार मुझसे किस बात का इस्तीफा मांग रहे थे. उन पर कई गंभीर मुकदमे दर्ज हैं. कोर्ट में मामला चल रहा है. जिस वजह से उन्होंने इस्तीफा दिया, तो किस मुंह से अब मुख्यमंत्री बनने जा रहे हैं.

 

बिहार के दलित, महादलित और पिछड़ा वर्ग का अपमान किया है. अगला कदम क्या होगा और क्या नहीं होगा यह तो बाद में तय किया जाएगा. नीतीश कुमार के इस कारनामे का विरोध किया जाएगा. धरना-प्रदर्शन करेंगे.

Search Article

Your Emotions

    %d bloggers like this: