बिहार की बेटी रिचा दिल्ली में मधुबनी पेंटिंग के जरिए दी शराबबंदी का संदेश

बिहारियों का टैलेंट बिहार के बाहर भी बोलता है। जिसका एक उदाहरण बिहार की बेटी रिचा राजपूत भी है। दिल्ली के दिल कनाॅट प्लेस मेट्रो स्टेशन गेट नंबर 2 के एक्जिट पर 8 व 9 जून को बिहार की बेटी रिचा राजपूत ने अपनी टीम ‘द केदार हाॅउस आॅर्ट गैलरी’ के सदस्यों के साथ शाम के 5 से 7 बजे के बीच मधुबनी पेंटिंग की कला के साथ-साथ नशा मुक्ति का संदेश देकर दिल्ली के दिल पर एक अलग ही छाप छोड़ दिया है। रिचा की टीम के साथ दिल्ली वालों ने भी बिहार में नशा के खिलाफ चल रहे सामाजिक अभियानों का समर्थन करते हुए कैनवास पर रंग भरा। बिहार की बेटी रिचा को इस सामाजिक सरोकार में दिल्ली के पेंटिंग क्षेत्र के कलाकारों के साथ-साथ एनडीएमसी की तरफ से भी भरपूर सहयोग मिला। रिचा की इस मुहिम में दिल्ली के एब्सट्रैक्ट आॅर्ट के दो उभरते कलाकार नुपूर व अनुज तनेजा भी साथ दिए। वही कनाॅट प्लेस पर इस सोशल आयोजन में प्रोफेशनल बाॅक्सिंग के उभरते सितारे दिशांक पांडेय ने भी पहुंच कर रिचा की टीम का हौसला बढ़ाया। राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में कई जगहों पर रिचा की टीम ‘द केदार हाॅउस’ के द्वारा मिथिला-मधुबनी पेंटिंग के प्रचार-प्रसार के लिए प्रशिक्षण व जागरूकता शिविरों का आयोजन किया जा रहा है।

बिहार के कोसी क्षेत्र के छोटे से शहर सहरसा से निकली रिचा अब देश की राजधानी दिल्ली में बिहार व रियल बिहारी टैलेंट का झंडा बुलंद करने के लिए कमर कस चुकी हैं। रिचा मिथिला मधुबनी पेंटिंग को बचाने व संरक्षित करने के साथ-साथ मिथिला-मधुबनी पेंटिंग के प्रचार-प्रसार के लिए भी सक्रिय हैं।

गौरतलब है कि बिहार की बेटी रिचा खुद विभिन्न स्लम क्षेत्र से लेकर स्कूलों तक में निशुल्क ट्रेनिंग दे रही हैं। उनके इन प्रयासों को केंद्र व राज्य स्तर पर सराहा भी गया है। इस उम्र में ही रिचा के किये प्रयासों ने न जाने कितनी ही महिलाओं को उम्मीद की नई किरण दिखाई है।

Search Article

Your Emotions

    %d bloggers like this: