बापू की कर्मभूमि चम्पारण में एक मंच पर दिखेंगे देश के चार महान हस्ती।

बापू की कर्मभूमि बिहार के चम्पारण में, देश के राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी, देश के गृह मंत्री राजनाथ सिंह, बिहार के मुख्य मंत्री नितीश कुमार और कांग्रेस के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष राहुल गांधी एक साथ मंच पर नजर आएंगे।

खास बात तो यह भी है कि राजनाथ सिंह और राहुल गांधी पहलीवार एक साथ मंच पर दिखेंगे। मौका होगा स्वतंत्रता सेनानियों के सम्मान का। कार्यक्रम 17 अप्रैल को श्रीकृष्ण स्मारक हॉल में होना है। चंपारण सत्याग्रह शताब्दी वर्ष के मौके पर सरकार की ओर से देश के उन तमाम स्वतंत्रता सेनानियों के सम्मान की योजना है जिन्होंने आजादी की लड़ाई में योगदान दिया हो।

कुल स्वतंत्रता सेनानी में 30% महिला सेनानी

800 में से 500 सेनानी हैं बिहार से – अब तक की योजना के मुताबिक सरकार ने कुल आठ सौ सेनानियों के सम्मान की योजना बनाई है। जिसमें पांच सौ से अधिक सेनानी बिहार के हैं, शेष अन्य राज्यों के हैं। आयोजन का जिम्मा शिक्षा विभाग को दिया गया है।
शिक्षा विभाग की पहल पर देश के राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने आयोजन में शामिल होने तथा सेनानियों के सम्मान का निमंत्रण स्वीकार कर लिया है। राष्ट्रपति के साथ ही गृह मंत्री राजनाथ सिंह और कांग्रेस के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष राहुल गांधी को भी समारोह में शिरकत करने का आमंत्रण दिया गया है।

राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी के साथ ही राहुल गांधी और राजनाथ सिंह ने भी समारोह में शामिल होने की अनुमति दे दी है।

यह भी पढ़ें: गांधी का चंपारण से है ऐसा रिश्ता जिसको जान कर आँखे भर आएंगी

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, उप मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव तथा शिक्षा मंत्री डॉ. अशोक चौधरी राज्य सरकार की ओर से इन हस्तियों का स्वागत करेंगे।

यह भी पढ़ें: चंपारण सत्याग्रह गाँधी के रूप में एक मसीहा ही नहीं बल्कि कृपलानी के रूप में एक जुनूनी स्वतंत्रता सेनानी भी दिया

 

Search Article

Your Emotions

    %d bloggers like this: