08 स्वर्ण पदक जित कर शिखा ने मिथिलांचल का नाम किया रौशन

(गुंजन कुमार की रिपोर्ट):- मिथिलांचल के गौरवमयी परंपरा को बरकरार रखते हुए मधुबनी जिला के झंझारपुर प्रखंड अंतर्गत रैयाम (सोइतपुरा) निवासी श्री विवेक झा के पत्नी शिखा झा ने अपने योग्यता का परचम जबलपुर के रानी दुर्गावती विश्वविद्यालय के दीक्षान्त समारोह में विभिन्न श्रेणियों में 8 स्वर्ण पदक प्राप्त कर लहराया।

★तालियों की गड़गड़ाहट के बीच जब एक के बाद एक 8 स्वर्ण पदक मुझे पहनाए गए तो मेरी आंखों में खुशी के आंसू आ गए। ये कहना था सबसे अधिक स्वर्ण पदक पाने वाली शिखा झा का। सिर्फ शिखा ही नहीं मंच से उतरते समय सीने में दमकते व खनकते स्वर्ण पदक पाने का गर्व प्रत्येक प्रतिभागी के चेहरे पर साफ झलक रहा था। अवसर था रानी दुर्गावती विश्वविद्यालय के 29वें दीक्षांत समारोह का। पंडित कुंजीलाल दुबे प्रेक्षागृह में इन एैतिहासिक व गौरवशाली पलों के साक्षी बने समारोह की अध्यक्षता कर रहे राज्यपाल प्रो.ओम प्रकाश कोहली। राज्यपाल ने युवाओं को कर्ण का उदाहरण देते हुए 5 गुणों से युक्त होने की सीख दी। साथ ही उन्होंने शिखा को 8 स्वर्ण पदक प्राप्त करने पर बधाई व ऐसे ही जीवन में अग्रसर रहने को भी कहा।
बतादें कि समारोह में वर्ष 2013 व 2014 के स्वर्णपदक व उपाधियां प्रदान की गईं।

टेलीकास्ट में भी शिखा छायी रही

दीक्षांत समारोह का कैंपस में तीन जगह लाइव टेलीकास्ट हो रहा था। भीड़ को देखकर प्रशासन ने भौतिक शास्त्र विभाग, केंटीन और कौसिंल हॉल में टीवी मॉनीटर की व्यवस्था की थी। जहां छात्रों के परिजन और कॉलेज से पहुंचें विद्यार्थी समारोह को देख रहे थे। और बार बार शिखा को देखकर किसी के हाथ तालियाँ बजाने से रुक नहीं रहा था।

वहीँ शिखा ने कहा कि प्राप्त 8 स्वर्ण पदक बीएससी एवं एमएससी मैथ्स साइंस में सर्वोच्च अंक प्राप्त करने हेतु मिला है।
मेरा सपना था कि मुझे गोल्ड मैडल मिले। लेकिन इतने सारे मिलेंगे यह पता नहीं था। मैं आगे भी एजुकेशन फील्ड में ही जाना चाहती हूं।

Search Article

Your Emotions

    %d bloggers like this: