मंत्री या विधायक का नाम बताईये करेंगे कार्यवाई मगर सीबीआई जांच नहीं होगी – नीतीश कुमार

टॉपर घोटाले के बाद बीएसएससी पेपर लीक घोटाले के पर्दाफाश होने के बाद बिहार का माहौल फिर गर्म है। आम से लेकर खास के जुबान पर बीएसएससी पेपर लीक की चर्चा है। टॉपर घोटाले की तरह ही इसकी जांच एसएसपी मनु महाराज के नेतृत्व वाले एसआईटी को दिया गया है।

टॉपर घोटाले की तरह ही इसमे बड़े लोगों के नाम सामने आने लगे हैं । हाल ही में एसआईटी ने बीएसएससी अध्यक्ष और वरिष्ठ आईएएस अधिकारी सुधीर कुमार को मुख्य आरोपी के रूप में गिरफ्तार किया है। सुधीर कुमार के गिरफ्तारी को लेकर अधिकारियों और राजनेताओं में हरकंप मंच गया है तो आईएएस संघ इसके खिलाफ लामबंद होकर विरोध कर रहें हैं तो उनके साथ विपक्ष भी इसकी सीबीआई जांच की मांग कर रही है और इसमें नेताओं के भी हाथ होने की बात कर रहें हैं ।

इस पूरे मामले पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बीएसएससी पेपर लीक मामले की सीबीआई जांच से इनकार कर दिया है। सोमवार को जदयू विधानमंडल दल की बैठक में नीतीश ने कहा कि विपक्ष के पास किसी मंत्री या विधायक के खिलाफ सबूत है,तो एसआईटी को बताएं। चाहे टॉपर घोटाला हो या पेपर लीक मामला,एसआईटी ने शानदार काम किया है।

 

सीबीआई कैसे काम करती है,सबको पता है। ब्रह्मेश्वर मुखिया हत्याकांड की सीबीआई जांच शुरू हुई। पर बिहार पुलिस जहां तक पहुंची थी,सीबीआई आज तक उससे एक भी कदम आगे नहीं बढ़ सकी है। नीतीश ने कहा कि मुख्यमंत्री के रूप में मैंने किसी भी मामले की जांच में कभी भी दखल नहीं दी है।

 

Search Article

Your Emotions

    %d bloggers like this: