गणतंत्र दिवस : इस बार झांकियों में दिखेगी बिहार के बदलाव की कहानी

फाइल फोटो

फाइल फोटो

बिहार सदियों से गौरवशाली रहा हैं जिसकी गाथाएं आज दुनिया की जुबां पर हैं.लेकिन हमारा आधुनिक बिहार कितना बदला है यह देखने के लिए आपको पटना गांधी मैदान आना होगा। भी अतीत से कम दिलचस्प नहीं है। हमारा बिहार वाकई बदला है. कितना बदला है अगर ये देखना है तो कहीं जाने की जरुरत नहीं. 26 जनवरी को चले आइएगा पटना के गांधी मैदान में.

h

फाइल फोटो

इस बार गणतंत्र दिवस के कार्यक्रम में ‘बदलता बिहार’ थीम के तहत झांकियों के माध्यम से बदलते बिहार को दिखाने की तैयारियां चल रही है.

 

बिहार सरकार के 11 विभागों की झांकियां गांधी मैदान में प्रदर्शित होंगी. इन झांकियों में बिहार के बदलाव की कहानी दिखाई देगी।जिसमे राज्य सरकार की महत्वाकांक्षी शराबबंदी कानून की प्रतीकात्मक झांकी को गणतंत्र दिवस के कार्यक्रम में भी प्रस्तुत करने की तैयारी है. इस झांकी में शराबबंदी के बाद से लोगों के जीवन में कितना खुशहाली आया. साथ में शराबबंदी के बाद हुए बदलावों को दर्शाता एक गीत भी बजता रहेगा.

फाइल फोटो

फाइल फोटो

गणतंत्र दिवस कार्यक्रम में विश्व धरोहर के रूप में नालंदा विश्वविद्यालय का खंडहर भी दिखेगा की जो बिहार की विरासत भी है.साथ ही इस ऐतिहासिक विश्वविद्यालय के हाल में बदलाव को भी दिखाया जाएगा. बिहार शिक्षा परियोजना परिषद के ‘चहक’ कार्यक्रम को भी परेड में प्रदर्शित किया जाएगा. जिसमें शिक्षक और छात्र एक दूसरे को खेल-खेल में पढ़ते-पढ़ाते नजर आएंगे।

 

इस बार राज्य सरकार की ११ विभागों के द्वारा झांकी प्रस्तुत किया जाएगा।जिसकी तैयारी अंतिम चरण पर है

इस बार गणतंत्र दिवस के मौके पर ऐतिहासिक गांधी मैदान में राज्यपाल रामनाथ कोविंद तिरंगा झंडा फहराएंगे. उस  दिन सेना के नेतृत्व में परेड होगी. इसमें बीएमपी, एनसीसी, अग्निशमन सहित कई दस्ते परेड में भाग लेंगे. झंडोत्तोलन समारोह की तैयारी युद्द स्तर पर चल रही है. गांधी मैदान में झंडोत्तोलन स्थल की घेराबंदी करने का कार्य जारी है.

तो आइएगा न गांधी मैदान।

तभी तो कहिएगा जी आयां ऩू

Search Article

Your Emotions

    %d bloggers like this: