पटना की सानिया मिर्जा को आउटस्टैंडिंग रिसर्च अवार्ड

पटना की सानिया को मिला आउटस्टैंडिंग रिसर्च अवार्ड।

C.I.M.P. की दूसरे वर्ष की छात्रा पटना की सानिया मिर्जा ने अपने बिहार राज्य की ही नहीं, बल्कि देशभर का नाम रौशन किया है।

अमेरिका के लास वेगास में 2-5 जनवरी तक चले ‘ग्लोबल कॉन्फ्रेंस ऑन बिजनेस एंड मैनेजमेंट के 22वाँ इंटरनेशनल कॉन्फ्रेंस में ‘आउटस्टैंडिंग रिसर्च अवार्ड जीता है। इसमें 50 देशों के 235 संस्थानों के 450 शोधार्थी व विद्यार्थी आए थे।

यही नहीं, सानिया को इस कॉन्फ्रेंस में रिसर्च पेपर प्रस्तुत करने के लिए ‘बेस्ट-इन-सेशन अवार्ड भी मिला है। यह अवार्ड सबसे बेहतर तरीके से रिसर्च पेपर प्रस्तुत करने के लिए दिया जाता है। दो बड़े अवार्ड जीत कर आईं सानिया को एक विशेष कार्यक्रम आयोजित कर सीआईएमपी के निदेशक डॉ वी. मुकुंद दास ने गुरुवार को सम्मानित किया।

बेस्ट की नहीं थी उम्मीद

सानिया कहती है, उसका पेपर बेस्ट चुना जाएगा इसकी उम्मीद नहीं थी। उसने बताया कि उसके रिसर्च पेपर को वहां मौजूद विश्व बैंक के विशेषज्ञ, न्यूयार्क स्टेट यूनिवर्सिटी और यूनिवर्सिटी ऑफ कैलिफोर्निया के लोगों ने भी सराहा। सानिया ने इस उपलब्धि का श्रेय सीआईएमपी, इसके निदेशक और फैकल्टी मेंबर को दिया। सानिया का एक और रिसर्च पेपर ‘चौथे पैन आईआईएम वर्ल्ड मैनेजमेंट कॉन्फ्रेंस 2016 ऑफ आईआईएम अहमदाबाद के लिए चयनित हुआ है।

इंटरनेशनल जर्नल में छपेगा रिसर्च

सानिया के रिसर्च का विषय ‘इंपैक्ट ऑफ माइक्रोइकॉनॉमिक एंड लोन-एसपेसिफिक डिटरमिनेंट ऑन नॉन-परफॉर्मिंग लोन्स इन इंडिया : एन इंपेरीकल इविडेंस था। अब यह पेपर इंटरनेशनल जर्नल ऑफ बिजनेस एंड फाइनेंस में छपेगा। सानिया भारत से एकमात्र छात्रा थी, जिसका पेपर कॉन्फ्रेंस में प्रस्तुत करने के लिए दो माह पहले चयन किया गया था। यही नहीं, सानिया कॉन्फ्रेंस में सबसे कम उम्र की रिसर्च पेपर प्रस्तुत करनेवाली भी रही। सानिया का घर बोरिंग रोड में है। उसके पिता व्यवसायी हैं।

Search Article

Your Emotions

    %d bloggers like this: