भले लोग पुलिस को गाली दे,  भला बुरा कहे मगर इमानदार और जबाज पुलिस अफसर का लोग अभी भी बहुत इज्जत और सम्मान करते है।  उसको लोग अपना हिरो मानते हैं। 

 

 

बिहार  पुलिस में भी अब एसे जबाजों की कमी नहीं है। उसी में से पहला नाम जो लिस्ट में सबसे पहले आता है वह है पटना के एसएसपी मनु महाराज।

बिहार में कितने लोग इन्हे  दबंग बुलाता है तो कोई सिंघम।  सिंघम जैसा पर्सनालिटी है तो दबंग जैसा स्टाईल।

 

अपने काम करने के स्टाईल के लिए हर दम देश भर में चर्चा में बने रहते है।  मुख्यमंत्री नीतीश कुमार भी इनके बहादुरी के कायल है।

 

बिहार की राजधानी पटना के एसएसपी मनु महाराज अपनी बेबाक स्टाइल की वजह से एक बार फिर सुर्खियों में हैं. कभी दबंग तो कभी सिंघम के नाम से चर्चा में रहने वाले मनु महाराज ने अपने ही महकमे को अलर्ट रखने के लिए ऐसा कदम उठाया, जिसे देखकर पुलिसवाले भी चकित रह गए. बेहद सुरक्षित कोतवाली थाना से देर रात पुलिस की जीप चोरी हो गई. दिलचस्प बात यह है कि चोरी किसी चोर ने नहीं बल्कि खुद एसएसपी मनु महाराज ने की थी. उन्होंने पुलिस की सक्रियता और कार्रवाई की गंभीरता की जांच के लिए जीप चोरी की थी.

 

इसी तरह एक बार मनु महराज चेहरे पर गमछा लगाए, पैर में चप्पल पहले टूटी साइकिल पर सवार होकर पुलिस जिप्सी के पास पहुंचे. जीप में बैठे पुलिसवाले से बोले- साहब, मैं मजदूरी करके लौट रहा था, तभी रास्ते में बदमाशों ने मुझे लूट लिया है. कृपया मेरी मदद कीजिए. इस पर पुलिसवाले ने उनकी बात अनसुनी कर दी. उन्हें वहां से भगाने लगा. इसके बाद भी वह उससे गुजारिश करते रहे।  इस झल्लाए पुलिसवाले ने उन्हें थप्पड़ मारने की कोशिश की, तभी उन्होंने चेहरे से गमछा हटा दिया. इसके बाद पुलिसवाला का होश उड़ गया।

 

एसएसपी मनु महाराज देर रात सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लेने के लिए शहर में निकलते हैं. एक बार वह सरकारी कार की जगह बाइक पर अपने गनर को बैठाकर शहर का पेट्रोलिंग करते नजर आए. इस दौरान उन्होंने चेहरे पर नकाब भी लगा रखा था. उन्होंने पटना के कई इलाकों का जायजा लिया. रास्ते में रुक कर पब्लिक के साथ-साथ कई पुलिस की गाड़ियों की चेकिंग भी की. बिना हेलमेट लगाए ही बाइक पर घुमते रहे लेकिन किसी पुलिसकर्मी ने हेलमेट चेक नहीं किया. इसके बाद संबंधित पुलिसकर्मियों पर कार्रवाई किया गया।

 

मनु महाराज IIT रुड़की से बी. टेक किया है।   2006 में UPSC पास किया।  मगर एक बात जान कर आपको आश्चर्य होगा कि इनको IAS रैंक मिलने के बावजूद IPS को चुना क्योकिं IPS अफसर बनना ही मनु महाराज का सपना था।

Search Article

Your Emotions

    %d bloggers like this: