Shramik Express

26 मई तक 505 श्रमिक स्पेशल ट्रेनों से सभी बिहारी मजदूरों को वापस लाने का कार्यक्रम तय

अब तक 320 श्रमिक स्पेशल ट्रेन से 95 हज़ार लोग बिहार वापस आ चुकें हैं मगर अभी भी हजारों बिहारी मजदूर दूसरे राज्य में फसे हैं और घर आने का इंतज़ार कर रहे हैं| बिहार सरकार हर दिन 50-60 ट्रेन देश के अलग-अलग राज्यों से चला रही है| जिससे हर रोज़ हजारों लोगों का बिहार वापस आने का सिलसिला जारी है|

बिहार के परिवहन सचिव संजय कुमार अग्रवाल और सूचना एवं जनसंपर्क सचिव अनुपम कुमार ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से संयुक्त संवाददाता सम्मेलन में कहां कि सरकार प्रवासी मजदूरों बिहार वापस लाने के लिए हर संभव कोशिश कर रही है| सभी मजदूरों को घर वापस लाया जायेगा| अब रेलवे की अधिकतम क्षमता का इस्तेमाल कर प्रतिदिन 70 से 75 हजार लोगों को लाया जा रहा है । अब हर दिन 50 से 60 ट्रेन देश के अलग-अलग हिस्सों से बिहार पहुंच रही है ।

अनुपम कुमार ने यह भी कहा कि 26 मई तक 505 ट्रेन से आठ लाख और लोगों के आने का कार्यक्रम तय हो चुका है ।

उन्होंने कहा कि घर लौटने के लिए सभी इच्छुक प्रवासी मजदूरों वापस लाया जायेगा| उन्होंने कहा कि किसी को परेशान होने की जरूरत नहीं है, सरकार सभी का ख्याल रखेगी।

सरकार ने एक और महत्वपूर्ण जानकारी साँझा की है| पहले श्रमिक स्पेशल ट्रेन राज्य के खास रेलवे स्टेशन पर ही रूकती थी मगर अब यह सभी जिलों के स्टेशन पर रुकेगी| यही नहीं, अब कुछ हाल्ट पर ही इसे रोका जायेगा ताकि लोगों को अपने घर जाने में ज्यादा परेसानी का सामना नहीं करना हो| गंतव्य स्टेशनों से लोगों को अपने गाँव ले जाने क लिए भी 4500 बसों को लगाया गया है। वहीं बड़ी संख्या में पैदल भी लोग राज्य की सीमा पर पहुंच रहे हैं। ऐसे लोगों के लिए आठ सौ बसों का इंतजाम कर्मनाशा और गोपालगंज में किया गया है। इसके अलवा इंटरसिटी ट्रेनों का भी परिचालन शुरू क्र दी गयी है| भी पांच- पांच ट्रेन कर्मनाशा और गोपालगंज से तथा एक ट्रेन पटना से राज्य के अंदर चलाई जा रही हैं।

Shramik Express, Shramik Special Train, Book Ticket for shramik specail trai, Special train tickets for migrants, Special Train For Bihar,

Shramik Express: दिल्ली से बिहार जाने के लिए स्पेशल ट्रेन का टिकट यहाँ से मिलेगा

लॉकडाउन में दूसरे राज्यों में फसे बिहारी मजदूर बिहार लौटने के लिए बेचैन है| हालांकि श्रमिक स्पेशल ट्रेन चलाई जा रही है और और हर रोज़ हजारों की संख्या में लोग अपने राज्य लौट रहे हैं| मगर अभी भी घर लौटना चाह रहे प्रवासी मजदूरों के अनुपात में चलाई जा रही ट्रेनों की संख्या काफी कम है|

हर रोज़ Aapna Bihar के अधिकारिक मोबाइल नंबर पर बहुत सारे लोग ट्रेन की जानकारी मांगते हैं| श्रमिक ट्रेनों की टाइम टेबल अग्रिम तौर पर जारी नहीं किया जाता और यात्री खुद से टिकट बुक भी नहीं कर सकते, इससे लोगों को काफी परेसानी हो रही है| वो अनिश्चित्ता में जीने को मजबूर है| उन्हें यह भी नहीं पता की टिकट मिलने कि प्रक्रिया क्या है?

इस विषय पर हमने पहले भी एक लेख लिखा है मगर सबसे ज्यादा फ़ोन दिल्ली से आ रही है, इसलिए इस लेख में खासकर दिल्ली की प्रक्रिया बताई जा रही है| हालांकि लगभग सभी राज्यों में यही प्रक्रिया अपनाई जा रही है| अन्य राज्यों के बारे में जानने के लिए यहाँ क्लिक करें| 

सबसे पहले आपको अपना नाम रजिस्टर करवाना होगा

बतक 2 श्रमिक स्पेशल ट्रेनें दिल्ली से बिहार आ चुके हैं| अगर आप चाहते हैं कि इसके बाद दिल्ली से खुलने वाले स्पेशल ट्रेन का टिकट आपको भी मिले तो इसके लिए सबसे पहले आपको दिल्ली सरकार द्वारा प्रवासियों को घर जाने के लिए बनाये गये रजिस्ट्रेशन पोर्टल में अपना नाम रजिस्टर करवाना होगा|

नोट: यहाँ ध्यान देनी वाली बात यह है कि वेबसाइट पर ज्यादा ट्रैफिक होने के कारण वेबसाइट का सर्वर डाउन रहता है| मगर रजिस्ट्रेशन के लिए एक मात्र विकल्प है|

रजिस्टर कराये लोगों को ही दिया जाता है टिकट

ट्रेन रेलवे चलती है मगर राज्य सरकार के निर्देश पर ही ट्रेन अभी खुल रही है और राज्य सरकार ही टिकट के वितरण से लेकर रेलवे स्टेशन तक लोगों को ले जाती है| जब दिल्ली से अगली ट्रेन चलाने का फैसला होगा तब दिल्ली सरकार रजिस्टर किये लोगों को ही बारी-बारी से टिकट जारी करेगी| इसके लिए दिल्ली सरकार ने नोडल ऑफिसर की तैनाती भी की है| जिनको टिकट मिलेगा उनको दिल्ली सरकार ही संपर्क कर जानकारी देगी और रेलवे स्टेशन तक लेकर आयेगी|


यह भी पढ़ें: पंजाब और हरियाणा से भी बिहार के लिए स्पेशल ट्रेन की टिकट कैसे मिलेगी?


दिल्ली स्थित बिहार भवन करें संपर्क

दिल्ली में फसे बिहारी मजदूर दिल्ली स्थित बिहार भवन से भी मदद की गुहार लगा सकते हैं| सरकार दावा कर रही है कि बिहार भवन से हजारों मजदूरों की मदद हो रही है मगर जारी हेल्पलाइन नंबर काम नहीं करने का भी आरोप है| हालांकि सरकार का दावा है कि कण्ट्रोल रूम 24 घंटे काम कर रही है| यह रही बिहार भवन दिल्ली का हेल्पलाइन नंबर – 011-23792009 और  011-23014326

यहाँ भी आप आप संपर्क कर सकते हैं – Shri Kumar Digvijay, Joint Labour Commissioner. Tel: (011)-230792319 E-Mail: [email protected]