सिर्फ कौन बनेगा करोड़पति में ही नहीं, असल जिंदगी में भी लोगों को करोड़पति बना रहे हैं शरद सागर

शरद के मदद से बिहार के रितिक ने अमेरिका के वॉशिंगटन स्थित जार्जटाउन विश्वविद्यालय से 2.5 करोड़ रुपए की छात्रवृत्ति हासिल की है

सोनी टीवी पर प्रसारित और महानायक अमिताभ बच्चन द्वारा होस्ट किया जाने वाला “कौन बनेगा करोड़पति (केबीसी)” देश का सबसे लोकप्रिय टीवी शो है। जहां प्रतिभागी के पास कुछ सवालों के सही जवाब देने के बाद करोड़पति बनने का मौका होता है।

केबीसी के वर्तमान संस्करण में बिहार के शरद सागर बतौर एक्सपर्ट के भूमिका में लगातार नजर आ रहे हैं। डेक्सटरिटी ग्लोबल के सीईओ शरद प्रतिभागियों को मुश्किल सवालों के सही जवाब बताकर करोड़पति बनने में मदद करते हैं।

केबीसी में एक्सपर्ट के रूप में सागर

मगर क्या आपको पता है कि शरद सागर टीवी शो के दुनिया से इतर असल जिंदगी में भी कई लोगों को ‘ करोड़पति’ बना चुके हैं?

जी हां, शरद सागर की संस्था डेक्सटरिटी ग्लोबल शिक्षा के क्षेत्र में काम करती है। जिसके जरिए वे छात्र- छात्राओं को शैक्षणिक अवसरों से जोड़ते हैं और उन अवसरों को हासिल करने में उनकी मदद भी करते हैं।

इससे ही जुड़ी एक खबर आज बिहार के हर अखबार छपी है। बिहार के एक किसान परिवार के 17 वर्षीय रितिक ने अमेरिका के वॉशिंगटन स्थित जार्जटाउन विश्वविद्यालय से 2.5 करोड़ रुपए की छात्रवृत्ति हासिल की है। पटना के गोला रोड निवासी रितिक पूरे परिवार से कॉलेज जाने वाले पहले व्यक्ति हैं। रितिक के इस कामयाबी के पीछे शरद सागर के डेक्सटरिटी ग्लोबल का अहम योगदान है।

अपनी सफलता पर प्रतिक्रिया देते हुए रितिक कहते हैं, “13 साल की उम्र से ही डेक्सटेरिटी ग्लोबल में मुझे मिले मार्गदर्शन और सलाह के बिना यह संभव नहीं होता। शरद सागर सर ने न केवल मुझे बड़े सपने देखने में सक्षम बनाया बल्कि मुझे उन सपनों को हकीक़त में बदलने के लिए सही संसाधनों से लैस किया। अपने गुरु के मूल्यों से प्रेरित होकर, मैं भारत वापस आना चाहता हूं और अपना जीवन सार्वजनिक सेवा और राष्ट्र-निर्माण के लिए समर्पित करना चाहता हूं।”

डेक्सटरिटी के बच्चों ने अभी तक 49 करोड़ की छात्रवृत्ति हासिल की है

एक तरफ किसान अपने फसल के उचित दाम के लिए दिल्ली में प्रदर्शन कर रहे हैं तो दुसरे तरफ – शरद सागर के प्रयासों का ही परिणाम है कि एक किसान परिवार का बेटा करोड़ों के छात्रवृत्ति के साथ दुनिया के प्रतिष्ठित विश्वविद्यालय में पढ़ने जा रहा है|

ज्ञात हो कि डेक्सटरिटी लगभग 65 लाख लोगों को शैक्षणिक अवसरों से जोड़ती है| अभी तक इस संस्था से जुड़े बच्चों ने लगभग 49 करोड़ की छात्रवृत्ति हासिल की है और 100 से ज्यादा बच्चों को विश्व के सबसे प्रतिष्ठित विश्वविद्यालयों से एडमिशन का ऑफर भी मिल चुका है|

इसमें ध्यान देने वाली बात यह है कि इन सभी बच्चों में से 80% बच्चें गरीब परिवार या कम आय वाले परिवार से आते हैं|

‘कौन बनेगा करोड़पति’ जीतकर जैसे एक आम इंसान की जिन्दगी बदल जाती है, उसी तरह शरद सागर साधारण परिवार से आने वालें बच्चों को करोड़ों का छात्रवृति हासिल करने में मदद कर उनको और उनके परिवार की जिंदगी बदल रहे हैं| इस सबके साथ डेक्सटरिटी से निकलने वाले बच्चें अच्छी शिक्षा हासिल कर देश निर्माण महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहे हैं|

Search Article

Your Emotions

    %d bloggers like this: