बिहार में कोरोना मरीजों की संख्या 50 हज़ार के पार, एक दिन में मिला 2986 केस

इस महीने की शुरुआत से अब तक बिहार में कोविड-19 के मामलों में पांच गुणा से अधिक की बढ़ोतरी हुई है.

बिहार में कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या 50 हज़ार को भी पार कर गया| राज्य में शुक्रवार को 2986 मरीजों की पहचान की गयी| यह एक दिन में पॉजिटिव मरीजों के मिलने की रिकॉर्ड संख्या है| राज्य में अभी कुल पॉजिटिव मरीजों का 66 प्रतिसत ठीक हो चुके हैं| अब प्रतिदिन 22 हज़ार से ज्यादा हो रहे हैं|

बिहार में कोरोना संक्रमण किस तेज़ी से बढ़ रहा है, उसका अंदाजा इस बात से लगाइए – इस महीने की शुरुआत से अब तक बिहार में कोविड-19 के मामलों में पांच गुणा से अधिक की बढ़ोतरी हुई है और मृतक संख्या में चौगुनी वृद्धि हुई है|

राज्य में पटना कोरोना का सबसे बड़ा हब बनकर उभरा है| जिले में सबसे ज्यादा केस यही हैं| नए मामलों में से 535 संक्रमित मरीज पटना के हैं, जिसके बाद जिले में संक्रमित लोगों की संख्या बढ़कर 8,764 हो गई| पटना जिले के बाद भागलपुर में संक्रमण के 2,551 मामले सामने आ चुके हैं और 28 लोगों की मौत हो चुकी है|

बदहाल स्वास्थ्य व्यवस्था

बिहार में कोरोना पॉजिटिव मामले की संख्या तेजी से बढ़ रही है मगर राज्य के अस्पतालों में बेड और ऑक्सीजन की कमी की खबर लगातार आ रही है| कई लोगों ने दहशत में आकर घरों पर ऑक्सीजन सिलेंडर जमा कर रखे हैं। इसके साथ राज्य के कई सदर अस्पताल में वेंटीलेटर उपलब्ध नहीं है| सभी जगह प्राइवेट हॉस्पिटल पर निर्भरता है| राज्य के सभी डीएम ने कम से कम 10-10 वेंटीलेटर उपलब्ध करवाने की मांग की है मगर उनकी मांग पूरी होगी, इसकी कम उम्मीद है|

स्थिति की गंभीरता और राज्य सरकार की नाकामी को देखते हुए भारतीय सेना मुजफ्फरपुर और पटना में 500-500 बेड का एक अस्थाई कोरोना अस्पताल का निर्माण करने जा रही है|

Search Article

Your Emotions

    %d bloggers like this: