बिहार बोर्ड से 10वीं पास 90 हजार छात्राओं को IIT JEE की फ्री कोचिंग कराएगा CBSE

केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) के द्वारा उड़ान प्रोजेक्ट में अब बिहार बोर्ड की छात्राऐं भी हिस्सा ले पाएंगी

बेटियों के इंजीनियर बनने के सपनों को अब केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) देगा नई ‘उड़ान’. बिहार बोर्ड से मैट्रिक पास छात्राओं को सीबीएसई द्वारा आईआईटी की तैयारी मुफ्त में करवायी जायेगी। केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) के द्वारा उड़ान प्रोजेक्ट में अब बिहार बोर्ड की छात्राऐं भी हिस्सा ले पाएंगी।

सीबीएसई द्वारा छात्राओं को इंजीनियरिंग की तैयारी कराने के लिए उड़ान प्रोजेक्ट हर साल शुरू किया जाता है। दो साल के इस कोर्स में 11वीं और 12वीं के साथ इंजीनियरिंग की तैयारी करवायी जाती है। सीबीएसई द्वारा उड़ान प्रोजेक्ट के लिए आवेदन लिये जाते हैं। चयन के लिए ऑनलाइन प्रवेश परीक्षा होती है। देश भर से एक हजार छात्राओं का चयन किया जाता है। चयन के बाद बोर्ड द्वारा छात्राओं को नि:शुल्क जेईई मेन, जेईई एडवांस की तैयारी करवायी जाएगी। दो साल के इस कोर्स में छात्राओं को विजुअल क्लासेस, वीडियो आदि उपलब्ध करवाया जायेगा।

इस साल बिहार बोर्ड के 90 हज़ार छात्रायें कर सकती है आवेदन

इस साल मैट्रिक का रिजल्ट काफी अच्छा रहा है और एक लाख 65 हजार 299 छात्राओं को प्रथम श्रेणी प्राप्त हुआ है। इनमें 90 हजार से अधिक छात्राओं ने 70 फीसदी या उससे अधिक अंक प्राप्त किये हैं। इन छात्राओं को उड़ान प्रोजेक्ट में शामिल होने का मौका मिलेगा। उड़ान प्रोजेक्ट के तहत जिन छात्राओं ने 70 फीसदी यह उससे अधिक अंक प्राप्त किए हो और विज्ञान और गणित जैसे विषयों में 80 फीसदी अंक, इसके आलवा फिजिक्स, केमिस्ट्री में 75 अंक प्राप्त किए हो, वह छात्राएं उड़ान प्रोजेक्ट में आवेदन कर सकती हैं।

सीबीएसई के सिटी कोऑर्डिनेटर, राजीव रंजन ने कहा “उड़ान प्रोजेक्ट काफी अच्छा है। इसमें चयनित होने वाली बेटियों को सीबीएसई मुफ्त में जेईई मेन और जेईई एडवांस की तैयारी करवाता है। यह बेटियों के लिए सुनहरा अवसर है। बिहार बोर्ड की छात्राएं भी अब इसमें आवेदन कर पाएंगी।”


यह भी पढ़ें: बीपीएससी ने अपने कई परीक्षाओं की तारीख में किया बदलाव, पढ़िए पूरी जानकारी


हाइलाइट्स

* इस साल उत्तीर्ण वैसी छात्राएं कर सकती हैं आवेदन, जिन्हें 70 फीसदी अंक मिले हैं
* 10वीं बोर्ड के रिजल्ट के बाद, आवेदन की प्रक्रिया होगी शुरू
* 90 हजार छात्राओं को IIT JEE की फ्री कोचिंग

आवेदन प्रक्रिया

सीबीएसई की मानें तो हर साल यह प्रक्रिया मई से जून तक के महीने में होती हैं। लेकिन इस साल कोरोना वायरस के कारण अगस्त में आवेदन प्रक्रिया शुरू होगी।

जेईई एडवांस की परीक्षा में आरक्षण

सीबीएसई की मानें तो ओबीसी छात्राओं को 27 फीसदी आरक्षण, एससी कोटि को 15 फीसदी, एसटी कोटि को 7.5 फीसदी और दिव्यांग छात्राओं को तीन फीसदी आरक्षण मिलेगा।


यह भी पढ़ें: राजधानी पटना के सेंट जेवियर्स हाई स्कूल के पूर्व छात्र को वर्ल्ड बैंक में मिली बड़ी जिम्मेदारी


Search Article

Your Emotions

    %d bloggers like this: