New Bridge in Bihar: जून में शरू हो जायेगा गाँधी सेतु समेत बिहार के ये 5 बड़े पुल

महात्मा गांधी सेतु के पश्चिमी लेन को 15 जून से चालू करने की घोषणा की जा चुकी है

अगले महीने बिहार में यातायात को लेकर बड़ा बदलाव देखने को मिल सकता है| राज्य के पांच नयें पुलों पर आवाजाही शुरू हो जाने की उम्मीद है| ये पंचों पुल का महत्व काफी ज्यादा है| वर्षों के इंतजार के बाद ये पुल बिहार के विकास के रफ़्तार को और तेज करने को तैयार है|

इन पांच पुलों में गंगा नदी पर पटना के महात्मा गांधी सेतु का पश्चिमी लेन, बंगरा घाट पुल, सोन नदी पर दाउदनगर-नासरीगंज, गंडक नदी पर धनहा घाट- रतवल घाट और गंगा नदी पर आरा-छपरा पुल शामिल हैं| इन सभी पुलों का काम अंतिम चरण में है| इसको पूरी तरह से चालू करने के लिए तेजी से काम किया जा रहा है| बिहार राज्य पथ परिवहन मंत्रालय के सूत्रों के अनुसार सभी पुलों को अगले महीने तक शुरू कर दी जाएगी|

हालांकि महात्मा गांधी सेतु के पश्चिमी लेन को 15 जून से चालू करने की घोषणा की जा चुकी है| 15 जून से वर्षों बाद इस लेन पर फिर से गाड़िया दौड़ने लगेगी|

 


यह भी पढ़ें: गांधी सेतु का एक लेन लोहे से बनकर हुआ तैयार, इस दिन से दौड़ेगी गाड़ियाँ


new Gandhi Setu, IRon Structure of GAndhi Setu, One lane of Gandhi Statue start

गाँधी सेतु

गंडक नदी पर 451 करोड़ रुपये के लगत से बनने वाला बंगरा घाट पुल एसएच 74 और एसएच 90 को जोड़ेगा| इस पुल का निर्माण 2014 में ही शुरू की गयी थी|  इसका भी काम ;लगभग पूरा हो चुका है|

इसके साथ ही सोन नदी पर दाउदनगर से नासरीगंज के बीच बनने वाले पुल का निर्माण कार्य करीब 94 फीसदी काम हो चुका है| इस पुल को बनाने की भी शुरुवात 2014 में ही हुई थी| इसके बनाने में 835 करोड़ रुपये की लगत आई है|

वहीं, गंगा नदी पर 2014 से ही  बन रहे आरा और छपरा के बीच पुल बनाने का काम लगभग ख़त्म होने वाला है| इसको बनाने में सरकार को करीब 849.33 करोड़ रुपये खर्च करने पड़े हैं|

ये सभी पुल अगले महीने यानी जून में शुरू हो जाने की उम्मीद है| इन पुलों के शुरू हो जाने पर करोड़ों लोगों को लाभ मिलेगा और आसपास के क्षेत्रों के आर्थिक उन्नति में मदद मिलेगी|

Search Article

Your Emotions

    %d bloggers like this: