1153 Views

आपके 5 साल के साथ और 1 साल के उत्साह को हमारा सलाम


“जो मंजिल तक न पहुँचे उसे रास्ता नहीं कहते,
यूँ चार कदम चलने को चलना नहीं कहते”

किसी शायर की ये पंक्तियाँ सफर में मंजिल की सार्थकता बयाँ करती हैं। सफर तो सभी शुरू करते हैं और सबका उत्साह शुरू में एक जैसा ही होता है। सबके सफर में कुछ बहुत अच्छा तो कुछ बहुत बुरा समय भी आता है। जो बुरे समय के साथ खेल गये, बस वही सिकंदर बन के उभरते हैं।
ये बातें यूँ ही नहीं कही जा रहीं। आज से 5 साल पहले जब ‘आपन बिहार’ की नींव रखी गयी तब जाने कितने ही फेसबुक पेज समकक्ष खड़े थे। लेकिन आज जो उपलब्धियाँ इस पेज के नाम हैं वो इन 5 सालों में आपका जीता हुआ भरोसा ही है जिसके दम से एक साल पहले इस पेज को वेब पोर्टल तक ले जाने की हिम्मत जुटाई जा सकी। पुनः ये टीम की मेहनत और आपका दिया उत्साह ही था जिसने हर पोर्टल से आगे निकालते हुए ‘आपन बिहार’ को सबसे भरोसेमंद पोर्टल बना दिया।
आइये जानते हैं आज आपके इस पेज की शुरू से अबतक की कहानी खुद टीम के मुखिया अविनाश कुमार सिंह की जुबानी-

‘आपन बिहार’ बिहार का सबसे बड़ा सोशल पोर्टल है । बिहार से जुड़े लाखों आम से लेकर खास लोग इसके जरिए बिहार से जुड़े हुए हैं। फेसबुक, Twitter, whatsapp हो या इंस्टाग्राम जब भी बिहार की बात होती है तो आपन बिहार का नाम जरूर आता है । बिहार से जुड़े हर मौके और हर अवसर पर ‘आपन बिहार’ सोशल मीडिया और पोर्टल के जरिए सबसे तेज, व्यापक, विश्वसनीय और जमीनी रिपोर्टिंग और कवरेज कर के दुनिया भर में फैले लाखों-करोड़ों बिहारियों को सदा अपने मिट्टी, संस्कृति, समाज और अपने राज्य से जोड़कर रखता है ताकि कोई रोटी की तलाश में अपने मातृभूमि से अलग भी हो तो उसे दूरी का एहसास न हो। इसी प्रयास के कारण ‘आपन बिहार’ पर लोगों का प्यार और विश्वास अपार है। जब भी लोग किसी सोशल साईट पर बिहार की बात करते हैं तो सबसे पहले Aapna Bihar का पेज खोलते हैं।

 

वर्तमान में आपन बिहार का फेसबुक पर 2 लाख 6 हजार लाइक है तो इंस्टाग्राम पर लगभग 22 हजार लोग इसे फॉलो करते हैं जो कि बिहार में किसी भी सोशल पोर्टल से कहीं ज्यादा है, साथ ही ‘आपन बिहार’ के वेबसाइट पर भी रोज करीब 35 हजार views मिल रहें हैं।  बिहार की सकारात्मक खबर पहुँचाने में ‘आपन बिहार’ सबसे आगे है साथ ही ‘आपन बिहार’ बिहार का पहला ऐसा सोशल पोर्टल है जिसने Google Play Store पर खुद का एप है जिसे गत् 8 जनवरी 2017 को विश्वप्रसिद्ध उद्यमी श्री शरद सागर ने लांच किया ।

ज्ञात हो कि यह ‘आपन बिहार’ ही है जिसने टॉपर्स घोटाले के नाम पर बिहार और पूरे बिहारी प्रतिभा के खिलाफ हुए नकारात्मक प्रचार के जवाब में सोशल मीडिया पर बिहार से जुड़ा अबतक का सबसे बड़ा और सुप्रसिद्ध मुहिम चलाया था, #MatBadnamKaroBiharKo, जिसने सोशल मीडिया में बिहार को बदनाम करने की साजिश को नाकाम कर दिया था । सुपर 30 के संस्थापक आनंद कुमार, आईपीएस कमल किशोर, फोर्ब्स पत्रिका में दुनिया के टॉप 30 युवा उद्यमियों में शुमार शरद सागर और बिहार के उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने भी हमारे इस मुहिम का समर्थन और सराहना किया। 

आस्था के सबसे बड़े पर्व छठ का भी आपन बिहार ने पहली बार बिहार के विभिन्न जिलों से लाइव दिखा नया कृतिमान स्थापित किया। गाँव से लेकर शहर तक, बिहार के विभिन्न जिलों से छठ का लाइव कवरेज किया गया। बिहार के कोने-कोने में फैली ‘आपन बिहार’ की टीम छठ का एक-एक अपडेट लोगों तक पहुँचा रही थी। नहाय-खाय हो, खरना का प्रसाद हो, छठ पूजा का प्रसाद बनाने का तरीका हो या छठ का वैज्ञानिक एवं पौराणिक महत्व लोगों तक पहुँचाने की जिम्मेदारी, हर जगह ‘आपण बिहार’ अपनी सफल कोशिश करता रहा, ताकि दुनिया के किसी भी कोने में रहते हुए किसी का छठ महापर्व न छूट जाये। देश-विदेश से लगभग 30 – 40 लाख लोगों ने पहली बार सोशल साइट पर लाइव छठ देखा जो अपने-आप में एक रिकॉर्ड है।

इसी तरह दुर्गा पूजा का भी कई जिलों से लाइव दृश्य दिखा हमने एक अनोखा प्रयास किया जिसे लोगों ने काफी सराहा।
प्रकाशपर्व पर हुए लाइव प्रसारण को देखने के लिए पंजाब और अन्य सिक्ख प्रमुख इलाकों, खासकर कनाडा से बहुत से लोग जुड़े और लगातार एक्टिव रहे। ये इस टीम का भरोसा ही है जो इतनी दूर बसे लोगों पर अपना असर छोड़ रहा है।
इसीतरह शराबबंदी के समर्थन में बने अब तक के सबसे लंबे मानव श्रृंखला का भी कई जिलों से लाइव दिखा कर ‘आपन बिहार’ ने अपनी उपस्थिति इस श्रृंखला के समर्थन में दर्ज कराई। इसमें न सिर्फ टीम, बल्कि पूरे बिहार में बसे ‘आपन बिहार’ के फॉलोवर्स ने भी अहम् भागीदारी निभाई, जो इस कार्यक्रम को सफलता के नए मुकाम तक पहुँचाने के लिए काफी था।

इसके अलावा स्वतंत्रता दिवस पर #BihariKrantikari , वैलेंटाइन सप्ताह पर #Mah-E-Mohbbat और बिहार दिवस पर #NayeBiharKeHero की विषेश सीरीज भी काफी पसंद की गई है।

शुरुआत

आपन बिहार की स्थापना फेसबुक के जरिए साल 2012 में अविनाश कुमार सिंह द्वारा किया गया था जब वे 8वीं कक्षा के छात्र थे और उनकी उम्र उस समय लगभग 13 वर्ष मात्र थी। आपन बिहार के पीछे अविनाश की ही सोच है। शुरूआती 2 साल तक उन्होंने अकेले ही आपन बिहार पेज को चलाया और बहुत ही कम समय में इसे बिहार का प्रसिद्ध एवं सबसे भरोसेमंद सोशल पोर्टल के रूप में स्थापित कर एक मिशाल कायम कर दिया उसके बाद उन्होंने इसका विस्तार करते हुए बिहार के विभिन्न जिलों से प्रतिभाशाली लोगों और युवाओं को साथ लेकर एक टीम बनाई और सोशल साइट के अलावा आपन बिहार का अपना वेबसाइट भी बनाया।

वर्तमान में अविनाश कुमार मुजफ्फरपुर के आरएनएस इंटर कॉलेज से 12वीं की परीक्षा दे चुके हैं। अविनाश बिहार के मुजफ्फरपुर के औराई प्रखंड के भैरवनाथ रामनगरा गाँव के एक साधारण किसान परिवार से हैं। दशवीं तक की पढ़ाई गाँव के ही ज्ञान भारती स्कूल से हुई और गाँव में रहते हुए ही उन्होंने ‘आपन बिहार’ की स्थापना की और गाँव से ही सोशल मीडिया में इसे बिहारियों के बीच एक जाना पहचाना नाम बना दिया।

दशवीं के बाद इंटर की पढ़ाई के लिए मुजफ्फरपुर आ गये और वहीं से अभी इसको अपनी टीम की मदद से मैनेज कर रहे हैं।

Team Aapna Bihar

टीम में बिहार के सभी जिलों से लोग जुड़े हैं जो साइट और पेज अपडेट करने में मदद करते हैं।

उसमें से दिल्ली से केशव झा, जो एक नामी सोफ्टवेयर कंपनी KBCD India के संस्थापक हैं, हमें तकनीकी सहायता मुहैया कराते हैं और टीम में सबसे उम्रदराज होने के कारण हमारा उचित मार्गदर्शन भी करते रहते हैं।

आरा से नेहा नूपुर हैं, जो शिक्षिका होने के साथ युवा लेखिका व् कवयित्री भी हैं, आपन बिहार की संपादक हैं। साथ ही पटना से अंकित कुमार वर्मा, नवादा से शेखर सुमन, गया जिला से प्रवीण कुमार, वैशाली से अभिषेक शरण, नालंदा जिला से पियूष राज, सासाराम से अनुपम पटेल और समस्तीपुर से शैलेश कुमार का टीम में  विशेष योगदान है।
पेज या वेबसाइट पर हर पोस्ट टीम में विमर्श के बाद और सोच विचार के ही पब्लिश होती है।

उद्देश्य :

आपन बिहार का उद्देश्य है देशभर में बिहार और बिहारियों के प्रति बने नकारात्मक माहौल को बदलना और हर बिहारी के दिल में अपनी मातृभूमि बिहार के प्रति गर्व की भावना जगाना ताकि लोग अपने बिहारी पहचान पर गर्व करें शर्म नहीं।
बिहारी स्मिता हमारी विचारधारा की प्रेरणा है और बिहार को प्रमोट करना ही हमारा मकसद।

हम बिहार से जुड़े उन सकारात्मक पहलुओं को दुनिया के सामने लाने की कोशिश करते रहते हैं जिनसे लोग अनजान हैं।

आपन बिहार के कार्यों को मिल रही है सराहना

“आपन बिहार जो काम कर रहा है। वह निश्चित उद्देश्य के लिए कर रहा है, सकारात्मक भाव, सकारात्मक सोच, सकारात्मक व्यवहार के लिए।
बहुत खुशी की बात है। इसको जारी रखना चाहिए ।”

– मृदुला सिन्हा (गोवा की राज्यपाल)

 

” ‘आपन बिहार’ बहुत अच्छा काम रहा है। लगातार आपलोग 4 सालों से बिहार पर्यटन का सोशल मिडिया के माध्यम से प्रचार-प्रसार कर रहें है। लोगों को इसकी जानकारी दे रहें हैं और बिहार घूमने आने के लिए लोगों को प्रोत्साहित कर रहें है। यह जानकर बहुत खुशी हुई। बिहार पर्यटन के तरफ से ‘आपन बिहार’ को धन्यवाद!”

–  श्रीमती अनीता देवी (पर्यटन मंत्री , बिहार सरकार)

“आपन बिहार की टीम, जो इतना बढ़िया काम कर रही है, बिहार को उस उच्चाई तक ले जाने का प्रयास कर रही है ताकि पूरी दुनिया उसको देख सके उसके अंदर छूपी प्रतिभा को समझ सके। ये बहुत बड़ी बात है। यह काबिल-ए-तारिफ है और मैं इसलिए आपको धन्यवाद देता हूँ कि बिहार में आप घूम – घूम कर ऐसा काम कर रहें हैं।”

– आनंद कुमार (सुपर 30 के संस्थापक)

“आपन बिहार जो टीम है उस टीम में काफी पोटेंशियल है और अगर वह इसी तरह साथ काम करना चाहेंगे तो उनका future bright है ।  STF के कई महत्वपूर्ण ऑपरेशन को आपन बिहार लोगों के सामने लाया है।”

– आईपीएस शिवदीप लांडे (पूर्व एसपी, एसटीएफ, बिहार)

Search Article

Your Emotions

    %d bloggers like this: