पीओके में हुए ऐतिहासिक सर्जिकल स्ट्राइक में बिहारी जवानों ने निभाया अहम रोल

uri_back
पहली बार पाकिस्तान में घुसकर हुए ऐतिहासिक सर्जिकल करवाई में भारतीय सेना के स्पेशल पैरामिलिट्री फ़ोर्स ने 50 से अधिक आतंकियों को मारकर अबतक का आतंक के खिलाफ जबदस्त करवाई किया.
मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक सैटेलाइट के जरिए मिली तस्वीरों  ने इसका खुलासा किया है. हालांकि भारत सरकार की ओर से भारत के सभी संवेदनशील शहरों को आतंकी हमले के मद्देनजर अलर्ट जारी किया गया है. सर्जिकल स्ट्राइक के बाद पाकिस्तान बौखलाया हुआ है. सूत्र बताते हैं कि भारत ने उसे एक ऐसा घाव दे दिया है जिससे वह जल्दी उबर नहीं पायेगा और अपने नापाक मंसूबों को कामयाब करने के लिये शहरों को भी निशाना बना सकता है. इस बीच पाकिस्तान में सरगर्मी बढ़ गयी है और नवाज शरीफ ने कैबिनेट की अहम बैठक भी बुलाई है.

वहीं दूसरी ओर जानकार सूत्रों की माने तो सर्जिकल स्ट्राइक में बिहार के रहने वाले सेना के जवानों ने अपनी महती भूमिका निभाई है. इस स्ट्राइक में भारतीय सेना में बिहार के दस और डोगरा बटालियन के घातक कमांडो ने मिलकर इस स्ट्राइक को सफलता पूर्वक अंजाम दिया है. बताया जा रहा है कि दो कारणों से इस बटालियन को इस स्ट्राइक के लिये चुना गया. पहला तो यह कि उरी हमले का निशाना यही बटालियन बना था और यदि यह हमला करता तो इनका मनोबल बढ़ता. इस बटालियन को एलओसी के पास पाकिस्तानी सेना की सभी गतिविधियों की जानकारी भी थी.

Search Article

Your Emotions

    %d bloggers like this: