IMG-20160827-WA0007
आपना लेख खबरें बिहार की राष्ट्रीय खबर

वर्तमान नालंदा विश्वविद्यालय एक सपना साकार होने जैसा है : राष्ट्रपति

आज बिहार के लिए बहुत एतिहासिक दिन था।  800 वर्षों बाद फिर बिहार ने इतिहास को दोहराया है। राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी अंतरराष्ट्रीय नालंदा विश्वविद्यालय के पहले दीक्षांत समारोह में शामिल हुए और विश्वविद्यालय के पहले सत्र के कुल बारह छात्रों को सम्मानित किया । इसमें दो छात्र, शशि अहलावत और साना सालाह को गोल्ड मेडल से नवाजा। […]

Education खबरें बिहार की

बिहार सहित संपूर्ण देश के लिए गौरवपूर्ण क्षण : 800 वर्ष बाद आज आयोजित हुआ नालंदा विश्विद्यालय का पहला दीक्षांत समारोह

बिहार सहित पुरे भारत के लिए ऐतिहासिक क्षण है। आज 800 साल बाद नालंदा विश्वविद्यालय में प्रथम दीक्षांत समारोह हुआ। जिसमें राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने विश्वविद्यालय के पहले सत्र के कुल बारह छात्रों को सम्मानित किया जिनमें से दो छात्रों, शशि अहलावत और साना सालाह को राष्ट्रपति ने गोल्ड मेडल से नवाजा, साथ ही अन्य […]

TH16_NALANDA_UNIVE_1459403f
खबरें बिहार की पर्यटन स्थल राष्ट्रीय खबर

कलाम का सपना हुआ पूरा, करीब 833 वर्ष बाद फिर इतिहास दोहरा रहा है नालंदा विश्विद्यालय

करीब 833 साल बाद फिर बिहार का नालंदा इतिहास दोहरा रहा है।  पूर्व राष्ट्रपति स्व. डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम अगर आज जीवित होते तो शायद अंतर्राष्ट्रीय नालंदा विश्वविद्यालय के दीक्षांत समारोह में शामिल भी होते और सबसे ज्यादा खुश होते। करीब 833 वर्ष पूर्व आक्रमणकारियों के हाथों तबाह हुए विश्वविद्यालय का नया स्वरूप अंतर्राष्ट्रीय नालंदा […]

wp-1471401124670.jpeg
Education खबरें बिहार की

नालंदा विश्विद्यालय के दीक्षांत समारोह में भाग लेने 26 को बिहार आयेंगे राष्ट्रपति

आगामी 26 अगस्त को नालंदा विश्विद्यालय का दीक्षांत समारोह के लिए तैयारी पुरे जोर-शोर से चल रही है. कार्यक्रम में भाग लेने के लिए देश के राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी भी बिहार आ रहे हैं। राज्य के आलाधिकारी सुरक्षा की तैयारी में पुरे तरह से जुट गए हैं। 26 अगस्त को होने वाले दीक्षांत समारोह को […]

PicsArt_07-15-11.10.04
आपना लेख खबरें बिहार की पर्यटन स्थल राष्ट्रीय खबर

अपने बिहार की शान नालंदा बना विश्व धरोहर

 विश्वप्रसिद्ध नालंदा विश्वविद्यालय के बारे तो आपने सुना ही होगा। आज से लगभग पंद्रह सौ साल पहले यह पूरी दुनिया के लिए उच्च शिक्षा का सिरमौर था, जहाँ सिर्फ भारत ही नहीं बल्कि चीन, जापान, बर्मा, कोरिया, तिब्बत, फ़्रांस आदि देशों से भी विद्यार्थी पढने के लिए आते थे। इस विश्व-विख्यात विश्वविद्यालय के भग्नावशेष इसके वैभव का […]